वीरू ने किया खुलासा- बैट्समैन चाहते थे कि इसी तरह टूटा रहे वॉर्न का हाथ

सोशल मीडिया के जरिए लगातार सुर्खियों में रहने वाले भारत के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग अपने एक और ट्वीट के कारण चर्चा में हैं. उन्होंने बुधवार सुबह दिग्गज शेन वॉर्न को बड़े ही रोचक अंदाज में जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं.

- batsmen wanted that the same way that Warne was broken

24 करोड़ के फायदे में एमपीसीए, फिर भी कमाई के लिए टिकट किए गये महंगे…

सहवाग ने एक तस्वीर शेयर की है- जिसमें वे और वॉर्न साथ दिख रहे हैं. वॉर्न के दाएं हाथ पर प्लास्टर चढ़ा हुआ है. उन दिनों सहवाग समेत अन्य बैट्समैन वॉर्न के बारे में क्या सोचते थे, उन्होंने वर्षों बाद जाहिर किया है. सहवाग ने अपने ट्वीट में लिखा है- बल्लेबाज हमेशा यही चाहते थे कि गेंदबाजी करते वक्त इसी तरह आपके हाथ पर प्लास्टर चढ़ा रहे. या चाहते थे कि आप उन्हें आउट करने पहले कम से कम चेता तो देते. हैप्पी बर्थडे लीजेंड!

ऑस्ट्रेलिया के महान लेग स्पिनर शेन वॉर्न आज 48 साल के हो गए. वॉर्न ने कलाई की जादूगरी से अपने समय के लगभग सभी दिग्गजों को फिरकी के जाल में फंसाया. वॉर्न ने अपने 145 मैचों के टेस्ट करियर में 708 विकेट चटकाए, जो मुथैया मुरलीधरन (800 विकेट) के बाद टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक है.

वॉर्न ने 2007 में क्रिकेट को क्रिकेट को अलविदा कहा. उनसे जुड़ा एक दिलचस्प वाकया मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर से जुड़ा हुआ है. वॉर्न ने खुलासा किया था कि सचिन उनके सपने में छक्का मारकर डराया करते थे.

शेन वॉर्न ने अपने 15 साल के क्रिकेट करियर में कई बेहतरीन गेंदें डालीं. लेकिन 1993 में एशेज सीरीज के दौरान वॉर्न ने एक ऐसी गेंद फेंकी, जिसे बॉल ऑफ द सेंचुरी माना गया. वॉर्न ने तब अपनी लेग स्पिन पर माइक गेटिंग को बोल्ड किया. वह गेंद करीब 90 डिग्री तक घूमी.

वॉर्न ने करियर की शुरुआत 1992 में सिडनी टेस्ट में भारत के खिलाफ की थी. उस टेस्ट में उन्हें एक ही विकेट मिला. वह विकेट था रवि शास्त्री का. शास्त्री 206 रन बनाकर वॉर्न की गेंद पर लपके गए थे.

Back to top button