FIFA2018: नॉकआउट में अर्जेंटीना और फ्रांस आमने-सामने, मेसी-पोग्बा पर होगी नजर

- in खेल

फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण का नॉकआउट दौर शनिवार से शुरू हो रहा है. इस दौर के पहले मैच में खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रहीं दो टीमें फ्रांस और अर्जेंटीना कजान एरिना में आमने-सामने होंगी. असल विश्व कप की शुरुआत सही मायने में अंतिम-16 दौरे से शुरू हो चुकी है जहां हर टीम को हर दौर में अपने विश्व कप विजेता के सपने को पूरा करने का एक मौका मिलेगा. अगर हार मिली तो सपना टूटेगा और अगर जीत मिली तो ट्रॉफी की तरफ एक कदम बढ़ेगा.

विश्व कप की शुरुआत से पहले अर्जेंटीना और फ्रांस दोनों को खिताब का दावेदार माना जा रहा था. अब जबकि यह दोनों टीमें नॉकआउट में भिड़ रहीं हैं तो एक बात तय है कि एक टीम इस रेस से बाहर हो जाएगी. हालांकि अर्जेंटीना ने उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं किया है. ग्रुप दौर में उसके प्रदर्शन ने कई लोगों को मायूसी दी, लेकिन टीम ने जरूरत के समय अपने आप को संभाला और अगले दौर में जगह बनाई.

फ्रांस के खिलाफ उसे अपने प्रदर्शन में सुधार करना होगा. वह जिस तरह का खेल खेलती आई है अगर वही खेलती रही तो फ्रांस के लिए क्वार्टर फाइनल का रास्ता खुला होगा. अर्जेंटीना की टीम की परेशानी यह है कि वह अपने कप्तान लियोनेल मेसी पर टिकी है. वह जब भी फंसती है उम्मीद करती है के मेसी अपना करिश्मा दिखाएं. नाइजीरिया के खिलाफ ग्रुप दौर के अंतिम मैच में अर्जेंटीना को जीत चाहिए थी और मेसी ने मैच का पहला गोल कर अपनी टीम का हौसला बढ़ाया था हालांकि मार्कस रोजो ने अर्जेंटीना के लिए विजयी गोल किया था.

फ्रांस के लिए भी यह मैच किसी भी लिहाज से आसान नहीं होने वाला है क्योंकि ग्रुप दौर में उसे कोई कड़ा प्रतिद्वंद्वी नहीं मिला. जबकि अब अर्जेंटीना जैसी मजबूत टीम और मेसी जैस महान स्ट्राइकर उसके सामने है तो उसे बेहद सतर्क रहना होगा. फ्रांस ने इस विश्व कप में एक गोल खाया है और तीन गोल किए हैं. वह इस विश्व कप में गोलरहित ड्रॉ खेलने वाली इकलौती टीम है. उसने ग्रुप दौरे के अपने आखिरी मैच में डेनमार्क के साथ ड्रॉ खेला था.

दूसरे टी-20 में कोहली ने आयरलैंड के खिलाफ बनाया ये खास प्लान

इस मैच में फ्रांस के डिफेंस की कड़ी परीक्षा होनी है जिसके लिए टीम के कोच दिदिर डेसचेम्प्स ने तैयारी कर ली होगा. वह मेसी के खिलाफ किस रणनीति से उतरते हैं वो देखना होगा. फ्रांस की उम्मीदें एंटोनी ग्रीजमैन, पॉल पोग्बा और उमतिति पर टिकी होंगी. यह तीनों खिलाड़ी ऐसे हैं जो अर्जेटीना के खेल को जानते भी हैं और उसे टक्कर देने का माद्दा भी रखते हैं.

टीम अजेर्टींना –

गोलकीपर : विल्फ्रेडो काबालेरो, फ्रांको अमार्नी, नाहुएल गुजमान.

डिफेंडर : गेब्रिएल मासेडरे, जेवियर माशेरानो, निकोल्स ओटामेंडी, फेडरिको फाजियो, मार्कोस रोजो, निकोल्स टागलियाफिको, क्रिस्टियन एंसाल्डी, मार्कोस अकुना.

मिडफील्डर : लुकास बिगलिया, एडुआडरे साल्वियो, एवेर बानेगा, एंजेल डी मारिया, एंजो पेरेज, गियोवानी लो सेल्सो, मैक्सीमिलियानो मेजा.

फॉरवर्ड : लियोनेल मेसी, सर्गियो एगुएरो, गोंजालो हिगुएन और पाउलो डेबाला.

टीम फ्रांस –

गोलकीपर : लोरिस, स्टीव मन्दंदा, अल्फोन्स एरोओला.

डिफेंडर : लुकास हर्नान्डेज, प्रेसनेल किम्पेम्बे, बेंजामिन मेन्डी, बेंजामिन पावर्ड, आदिल रामी, जिब्रिल सिदीबे, सैमुअल उम्तीती, राफेल वरान.

मिडफील्डर : एनगोलो कान्ते, ब्लेस मातुइदी, स्टीवन एंजोंजी, पॉल पोग्बा, कोरेंटिन टोलिसो.

फॉरवर्ड : ओउस्मान डेम्बेले, नाबिल फकीर, ओलिवियर जीरू, एंटोनी ग्रीजमैन, थॉमस लेमार, कीलियन एम्बाप्पे, फ्लोरियन थौविन.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

14 महीने बाद वनडे में इस खिलाड़ी की हुई वापसी, मैदान पर फिर दिखा जादू

पिछले साल जुलाई के बाद अपना पहला वनडे