हरिद्वार के अलावा कई राज्यों की नदियों में प्रवाहित होंगी अटल जी की अस्थियां

- in राष्ट्रीय

अटल जी के अंतिम संस्कार के बाद अब उनकी अस्थि विसर्जन की प्रक्रिया होगी। इसके लिए हरिद्वार को चुना गया है और रविवार को अटल जी की अस्थिया गंगा में प्रवाहित की जाएंगी। प्रशासन ने इसके लिए सारे इंतजाम कर लिए हैं। जानकारी के अनुसार अस्थि विसर्जन के दौरान यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के अलावा कई बड़े नेता व खुद प्रधानमंत्री मोदी भी मौजूद रह सकते हैं।

पुलिस व प्रशासनिक अमला अस्थि विसर्जन की तैयारियों में जुट गया है। प्रशासन को अभी तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कार्यक्रम प्राप्त हो चुका है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह व गृह मंत्री राजनाथ सिंह के हरिद्वार आने की भी सूचना मिली है। एसएसपी कृष्ण कुमार वीके ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के अस्थि विसर्जन में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आने का विधिवत कार्यक्रम प्राप्त हो चुका है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के आने की सूचना भी मिल रही है। कई और वीआईपी हरिद्वार पहुंचने की उम्मीद है। उसी के अनुसार सुरक्षा व अन्य व्यवस्थाओं की तैयारियां की जा रही हैं।

हरिद्वार के अलावा यूपी सरकार ने भी फैसला किया है कि राज्य के 75 जिलों की सभी नदियों में अटल जी की अस्थियों का विसर्जन किया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उत्तर प्रदेश, अटल जी की कर्मभूमि रहा है। उनका यहां से गहरा लगाव था और जन भावनाओं का सम्मान करते हुए अटल जी की अस्थियों का राज्य की हर नदी में विसर्जन किया जाएगा।

जनसैलाब के बीच हरिद्वार में बेटी ने विसर्जित की अटल जी की अस्थियां

झारखंड राज्य का गठन करने वाले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां राज्य की सभी प्रमुख नदियों में प्रवाहित की जाएंगी। अटलजी की अस्थियों को देश की सभी प्रमुख नदियों में प्रवाहित करने का निर्णय लिया गया है। इस क्रम में झारखंड की नदियों में भी उनकी अस्थियों को विसर्जित किया जाएगा। इसकी तिथि की घोषणा बाद में होगी।

इसके बाद राज्य सरकार को इससे अवगत करा दिया जाएगा। इस कार्यक्रम के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री की यादों को सहेजने और आम जनमानस को उनसे जोड़ने के लिए अटल यात्रा का आयोजन भी प्रदेश भाजपा करेगी। इसके अलावा अटलजी पर सेमिनार और गोष्ठियों का आयोजन पंचायत स्तर पर किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अपने जीन्स में मौजूद कैंसर के खतरे से अनजान हैं 80 फीसदी लोग

दुनिया भर में कैंसर के मामलों में तेजी