अमृतसर हादसा : साैरभ मदान ने कार्यक्रम के लिए अनुमति की बजाए मांगी थी सर्विस

जोड़ा फाटक के पास स्थित धोबीघाट के मैदान में दशहरा उत्सव को लेकर दशहरा कमेटी ईस्ट के प्रधान सौरभ मदान (मिट्ठू) के दावों पर सवाल उठ रहे हैं। आयोजकों की तरफ से परमीशन को लेकर वायरल किए गए किसी भी दस्तावेज में भी परमीशन मांगने की बात सामने नहीं आई है। बताया जा रहा है कि सत्ता के नशे में आयोजकों ने पुलिस और निगम से परमीशन की बजाए केवल सर्विस की मांग की थी।अमृतसर हादसा : साैरभ मदान ने कार्यक्रम के लिए अनुमति की बजाए मांगी थी सर्विस

सिद्धू दंपती को गेस्ट बता पुलिस से सुरक्षा और निगम से फायर बिग्रेड सहित वाटर टैंकर मांगा

जो तथ्य सामने आ रहे हैैं उनके अनुसार डीसीपी और नगर निगम कमिश्नर के नाम से लिखे गए पत्रों में आयोजक मिट्ठू मदान ने समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी डाॅ. नवजोत कौर सिद्धू आने का हवाला देकर सुरक्षा और सर्विस की मांग की थी।

इसमें कहा गया था कि हजारों की संख्या में वहां लोग जुट रहे हैं। इसे आधार बनाकर पुलिस के डीसीपी से सुरक्षा मुहैया करवाने को कहा गया था। इसके जवाब में थाना मोहकमपुरा पुलिस ने अपने पत्र में लिखा कि सशर्त उन्हें दशहरा उत्सव मनाने पर ऐतराज नहीं है।

निगम कमिश्नर ने कहा, धोबीघाट मैदान में दशहरा उत्सव की नहीं दी परमीशन

वहीं, नगर निगम कमिश्नर को लिखे गए पत्र में 10 से 12 हजार लोगों के इकट्ठा होने की जानकारी दी गई थी। लोगों की आमद को देखते हुए वाटर टैंकर और फायर ब्रिगेड की मांग की थी। नगर सुधार ट्रस्ट से निगम को हैंडओवर हुए धोबीघाट के मैदान में दशहरा मनाने के लिए किसी भी प्रकार की परमीशन निगम से नहीं मांगी गई।

सुपरवाइजर को शोकॉज नोटिस जारी

मिट्ठू मदान द्वारा 15 अक्टूबर को निगम कमिश्नर के पीए को समारोह में वाटर टैंकर और फायर ब्रिगेड मुहैया करवाने लेटर डायरी करवाया गया। निगम कमिश्नर 17 को चंडीगढ़ बैठक में थीं और 18 को छुट्टी पर थीं। इसलिए यह लेटर प्रोसेस ही नहीं हुआ। निगम की ओर से लेटर प्रोसेस न होने के बावजूद वाटर टैंकर भेजने वाले जल सप्लाई विभाग के सुपरवाइजर को शोकॉज नोटिस जारी कर दिया है।

” दशहरा कमेटी ईस्ट के आयोजकों ने धोबीघाट मैदान में दशहरा मनाने के लिए परमीशन की मांग नहीं की। न ही निगम ने परमीशन दी। आयोजकों ने निगम से सर्विसेस मांगी थीं। ये लेटर प्रोसेस नहीं हुआ। बिना किसी आदेश सर्विस नहीं दी जा सकती। पार्षद के कहने पर जिन कर्मचारियों ने उन्हें सर्विसेज दी है, उन्हें शोकॉज नोटिस जारी कर दिया गया है।

मिट्ठू कर रहा गुमराह, घर पर पथराव मामले में केस दर्ज होने का दावा भी झूठा

हादसे के चार दिन बाद मीडिया के सामने आए मिट्ठू ने लोगों को गुमराह करना शुरू कर दिया है। उसने मीडिया को बताया कि जोड़ा फाटक के लोग उसके साथ हैैं। उसके घर पर पथराव करने वाले लोग फिरोजपुर के थे। पुलिस ने उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली है। वहीं, बस अड्डा पुलिस चौकी के प्रभारी सतनाम सिंह ने कहा कि केस उन्हीं के थाने में दर्ज होना है। लेकिन न तो मिट्ठू की ओर से कोई शिकायत मिली है और न ही पत्थरबाजी करने के आरोप में किसी के खिलाफ कोई मामला दर्ज किया गया है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button