Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > …तो इस कारण बदला अमित शाह के इलाहाबाद आगमन का कार्यक्रम

…तो इस कारण बदला अमित शाह के इलाहाबाद आगमन का कार्यक्रम

इलाहाबाद। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह के कल संगमनगरी इलाहाबाद के कार्यक्रम में बदलाव किया गया है। चंद्रग्रहण का सूतक लगने के कारण अमित शाह का आगमन अब दोपहर के स्थान पर कल सुबह ही होगा।...तो इस कारण बदला अमित शाह के इलाहाबाद आगमन का कार्यक्रम

लोकसभा चुनाव से पहले कुंभ की ब्रांडिंग कर हिन्दुत्व के एजेंडे को धार देने के मकसद से कल गुरु पूर्णिमा पर संगम नगरी इलाहाबाद आ रहे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के कार्यक्रम में फेरबदल किया गया है। अमित शाह को पहले दोपहर को इलाहाबाद पहुंचकर रात तक शहर में रहना था, लेकिन अब वह सुबह ही यहां आ जाएंगे और दोपहर को वापस लौट जाएंगे। अमित अब न तो गंगा आरती में शामिल होंगे और न ही पार्टी के वरिष्ठ नेता व स्थानीय बुद्धिजीवियों से मुलाकात करेंगे।

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य कल ही इलाहाबाद पहुंच गए। उन्होंने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के कार्यक्रम की हर तैयारी को परखा। अमित शाह कल पूरे समय संतों के बीच रहकर पूजन-अर्चन करेंगे। संतों के साथ दोपहर में भोजन करने के बाद वह यहां से रवाना हो जाएंगे। अमित शाह के स्वागत में प्रदेश सरकार के कई मंत्रियों के पहुंचने की संभावना है।

अमित शाह ने कार्यक्रम में बदलाव का फैसला इलाहाबाद के ही ज्योतिषी की सलाह पर किया है। ज्योतिषी ने मेल और मैसेज भेजकर उनसे ग्रहण के सूतक काल में कोई धार्मिक काम या बैठक नहीं करने की सलाह दी थी। दरअसल केंद्र की मोदी और यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार इलाहाबाद में कुछ महीनों बाद लगने जा रहे कुंभ मेले की दुनिया भर में ब्रांडिंग कर उसका चुनावी फायदा लेना चाहती है। विपक्षी एकता की सुगबुगाहट के बीच भाजपा ने कुंभ के भव्य आयोजन के बहाने हिन्दुत्व के एजेंडे को धार देकर 2019 के सियासी महाभारत में मैदान मारने की भी रणनीति तय की है। इसी सोच के साथ पीएम नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ की सरकारों ने कुंभ को लेकर खजाना खोल दिया है। कुंभ के आयोजन को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कुछ दिन पहले अखाड़ों से जुड़े साधू-संतों को नई दिल्ली में अपने आवास पर बुलाकर उनसे लम्बी बातचीत कर चुके हैं।

नये कार्यक्रम के मुताबिक अमित शाह अब कल गुरु पूर्णिमा पर सुबह 6:45 बजे ही अपने घर से इलाहाबाद के लिए रवाना हो जाएंगे और साढ़े आठ बजे शहर आ जाएंगे। सुबह नौ बजे जूना अखाड़े के मौजगिरि आश्रम में पहुंच जाएंगे और वहां तकरीबन दो घंटे तक रहेंगे। इस दौरान वह मंदिर में पूजा अर्चना करेंगे। गुरु पूर्णिमा का पर्व मनाएंगे और वहीं कुछ साधू संतों से मुलाकात करेंगे। कुंभ से जुड़े अधिकारी वहां उन्हें छोटा प्रेजेंटेशन भी दे सकते हैं। अमित शाह के साथ यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के भी मौजूद रहने की उम्मीद है। मौजगिरि आश्रम से वह संगम जाकर कुंभ मेले के स्वरुप को समझेंगे और वहां लेटे हुए हनुमान मंदिर में जाकर वहां पूजा अर्चना करेंगे। संगम पर कुछ समय बिताने के बाद अमित शाह अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के बाघम्बरी मठ में भी जाएंगे। यहां संतों के साथ बैठक और दोपहर का भोजन करने के बाद भाजपा अमित शाह दोपहर 1:45 बजे नई दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह गुरु पूर्णिमा पर कल इलाहाबाद आ रहे हैं, उसी रात सदी का सबसे बड़ा चंद्रग्रहण पड़ रहा है। भारत में यह चंद्रग्रहण तकरीबन तीन घंटे 55 मिनट का होगा। भारत में चंद्रग्रहण की शुरुआत रात को ग्यारह बजकर चौवन मिनट से होगी और इसका मोक्ष रात को तीन बजकर 49 मिनट तक रहेगा। ज्योतिष शास्त्र में ग्रहण से पहले सूतक का भी विधान है, जो ग्रहण से नौ घंटे पहले ही शुरू हो जाता है। कल चंद्रग्रहण का सूतक दोपहर दो बजकर 54 मिनट से शुरू हो जाएगा। अमित शाह का कार्यक्रम आने के बाद इलाहाबाद के एक ज्योतिषी ने उन्हें मेल और मैसेज भेजकर ग्रहण के सूतक काल में कोई बैठक करने या भोज करने और किसी धार्मिक जगह पर नहीं जाने की सलाह दी थी।

अमित शाह के पीए ने सुबह दस बजे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के सचिव एवं जूना अखाड़ा के मुख्य संरक्षक महंत हरि गिरि से बात करके नया कार्यक्रम तैयार किया। अब वह सबसे पहले यमुना बैंक रोड पर सिद्ध बाबा मौज गिरि मंदिर जाएंगे। इसके बाद संगम, अक्षयवट, लेटे हनुमान मंदिर में दर्शन-पूजन के बाद मठ बाघंबरी गद्दी पहुंचेंगे।

वहां अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के पदाधिकारियों के साथ मंत्रणा करने के साथ भोजन करेंगे। अमित शाह के आगमन को लेकर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य कल दोपहर ही इलाहाबाद आ गए, जबकि गुरुवार व शुक्रवार को विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित, कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, डॉ. रीता बहुगुणा जोशी, नंदगोपाल गुप्त ‘नंदी’ सहित अनेक मंत्रियों के शहर आने की संभावना है। इनके अलावा संगठन महामंत्री सुनील बंसल, काशी क्षेत्र अध्यक्ष महेशचंद्र श्रीवास्तव सहित भाजपा के प्रमुख नेता मौजूद रहेंगे।

संतों के सानिध्य में रहेंगे शाह

अमित शाह शुक्रवार सुबह 8.30 बजे बमरौली एयरपोर्ट पहुंचेंगे। नौ बजे यमुना बैंक रोड स्थित मौज गिरि मंदिर जाएंगे। संतों के साथ दो घंटा बिताने के बाद वह 11 बजे मठ बाघंबरी गद्दी जाएंगे। वहां अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद पदाधिकारियों के साथ मंत्रणा करने के बाद भोजन करके शहर से रवाना होंगे। 

Loading...

Check Also

कैबिनेट मंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा- सुप्रीम कोर्ट के जज को भी पता अयोध्या ही श्रीराम की जन्मस्थली

कैबिनेट मंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा- सुप्रीम कोर्ट के जज को भी पता अयोध्या ही श्रीराम की जन्मस्थली

अयोध्या में भगवान राम के मंदिर निर्माण को लेकर बढ़ी हुंकार के बीच योगी आदित्यनाथ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com