चीन में रहस्यमयी बीमारी से पीड़ित हुआ अमेरिकी नागरिक

हाल ही में चीन गए एक अमेरिकी नागरिक के रहस्यमयी बीमारी से पीड़ित होने की सूचना मिली है. उसमें वैसे ही लक्षण देखने को मिले हैं, जैसे कुछ दिन पहले हवाना और गुआंगजौ गए अमेरिकी डिप्लोमेट्स में देखे गए थे. गुरुवार को अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने पीड़ित का नाम न बताते हुए यह जानकारी दी.चीन में रहस्यमयी बीमारी से पीड़ित हुआ अमेरिकी नागरिक

मंत्रालय ने बताया कि यह पहला निजी अमेरिकी नागरिक है जिसे चीन जाने पर उन्हीं लक्षणों का सामना करना पड़ा जो अमेरिकी राजनयिकों में पाए गए थे. इसके साथ ही क्यूबा जाने वाले 19 अन्य नागरिकों ने खुद पर वैसे ही लक्षण पाए जाने की जानकारी दी है. उनमें से कई ने रहस्यमयी बीमारी के बारे में बताया है, जिसके कारण नहीं पता चले हैं.

बता दें कि पिछले महीने अमेरिका ने चीन में अपने नागरिकों को स्वास्थ्य संबंधी अलर्ट जारी किया था. दरअसल अमेरिकी दूतावास के कर्मचारियों को किसी असमान्य आवाज़ या किसी विज़न (दृष्य) से सतर्क रहने को कहा गया था. इससे पहले 7 जून को खबर आई थी कि अमेरिका के कई राजनयिक चीन में रहस्यमयी बीमारी के शिकार हो रहे हैं.

ऐसे में अमेरिका ने अपने ऐसे राजनयिकों को इलाज के लिए वापस बुला लिया था.2 मार्च को जारी किए गए ट्रैवल एडवाइजरी में विदेश मंत्रालय ने अमेरिकी नागरिकों से क्यूबा की यात्रा पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया और कहा कि ‘कई हवाना  के अमेरिकी दूतावास कर्मचारियों को विशिष्ट हमलों में निशाना बनाया गया है.’ क्यूबा में अमेरिकी अधिकारियों के बीमारी का समाचार बीते साल अगस्त में सामने आया था. गुआंगजौ में अमेरिकी वाणिज्य दूतावास में काम कर रहे अमेरिकी लोगों की बीमारी की रिपोर्ट मई में सामने आई.

विदेश मंत्रालय के ब्यूरो ऑफ कॉन्सुलर अफेयर्स के एक अधिकारी ने कहा, ’23 मई को पहले (गुआंगज़ौ से संबंधित) स्वास्थ्य अलर्ट की जारी करने के बाद, विदेश मंत्रालय से एक अमेरिकी नागरिक ने संपर्क किया है, जिसने चीन यात्रा के बाद इसी तरह के लक्षणों का सामना किया है.

यह पूछे जाने पर कि क्या विदेश विभाग के पास कोई जानकारी है कि निजी नागरिक क्यूबा में अमेरिकी अधिकारियों के समान ‘हमले’ से प्रभावित थे, अधिकारी ने जवाब दिया: ‘यह एक शुरुआती स्थिति है.जैसा कि हम अपने स्वास्थ्य चेतावनी में बताते हैं, अगर आप किसी भी लक्षण या चिकित्सा समस्याओं के बारे में चिंतित हैं, जितनी जल्दी हो सके एक चिकित्सा पेशेवर से परामर्श लें.’ क्यूबा के अधिकारियों ने हवाना में बीमारियों के की वजह के बारे में किसी भी भागीदारी या जानकारी से इनकार कर दिया है. चीन ने कहा है कि यह संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा गुआंगजौ में शुरू किए गए प्रारंभिक मामले की पूरी तरह से जांच करता है और इसे समझाने के लिए कोई कारण या सुराग नहीं मिला है.

क्या हुआ था हवाना में?

साल 2016 में क्यूबा के हवाना स्थित अमेरिकी दूतावास पर राजनयिकों पर रहस्यमयी बीमारी हमले किए गए थे. यहां किसी रेडियोधर्मी अथवा सोनार तरंगों से हमला किया गया था. इस हमले से अमेरिकी दूतावास में रह रहे राजनयिकों का स्वास्थ खराब हो गया. अमेरिकी विदेश मंत्रालय के 20 से ज्यादा राजनयिक इस सोनार तरंगों के हमले की चपेट में आए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूनाइटेड नेशन्स (UN) की बैठक में भाग लेने के लिए न्यूयोर्क शहर पहुँची सुषमा स्वराज

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर