आया आसमान का सिकंदर, वाटर सैल्यूट से होगा स्वागत…

भारतीय वायुसेना की शक्ति में आज बढ़ोतरी हुई है. फ्रांस से उड़ान भरने के बाद पांच राफेल लड़ाकू विमान भारतीय जमीन में पहुंच गए हैं. हरियाणा के अंबाला एयरबेस में बुधवार को राफेल विमान लैंड हुए, जहां उनका स्वागत वाटर सैल्यूट के साथ किया गया. इस दौरान वायुसेना चीफ RKS भदौरिया भी मौजूद रहे. फ्रांस से मिलने वाली राफेल विमानों की ये पहले खेप है. इन विमानों ने मंगलवार को फ्रांस से उड़ान भरी थी, जिसके बाद ये UAE में रुके और बुधवार दोपहर को अंबाला पहुंचे.

पांचों राफेल लड़ाकू विमान अंबाला एयरबेस पर लैंड कर चुके हैं. UAE से उड़ान भरने के बाद दोपहर 3.00 बजे के करीब अंबाला के एयरबेस पर विमान लैंड हुए.

पांचों राफेल लड़ाकू विमान अंबाला एयरबेस के पास पहुंच गए हैं. अब से चंद मिनटों में सभी विमानों की लैंडिंग होगी.

अंबाला के इस एयरबेस पर अब से कुछ देर में राफेल लड़ाकू विमान की लैंडिंगहोगी.

वायुसेना प्रमुख भी अंबाला एयरबेस पहुंच गए हैं, अब से कुछ देर में राफेल की लैंडिंग यहीं पर होगी.

रक्षा मंत्री की ओर से ट्वीट की गई राफेल विमानों की वीडियो.

राफेल लड़ाकू विमान मुंबई एयरस्पेस में पहुंच गए हैं, यानी अब सिर्फ एक घंटे से भी कम का वक्त है जब राफेल विमान अंबाला में लैंड होंगे.

राफेल विमान भारतीय वायुसीमा में दाखिल हो गए हैं, UAE से उड़ान भरने के बाद अंबाला के लिए ये रवाना हो चुके हैं. कंट्रोल रूम ने इन पांचों विमानों का स्वागत किया और बेस्ट ऑफ लक कहा.

राफेल विमानों ने UAE से उड़ान भर ली है, करीब दो या तीन बजे के बीच ये विमान अंबाला एयरबेस तक पहुंचेंगे.

करीब दो बजे पांचों राफेल विमान भारत पहुंचेंगे. अंबाला में इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है. वायुसेना प्रमुख इस दौरान अंबाला एयरबेस पर मौजूद रहेंगे.

राफेल विमान को वायुसेना की गोल्डन ऐरो 17 स्क्वाड्रन में शामिल किया जाएगा. इसने कारगिल युद्ध में अहम भूमिका निभाई थी और भारत की सबसे पुरानी स्क्वाड्रन में से एक है. चीन के साथ जारी तनाव के बीच भारत को आज ताकतवर लड़ाकू विमान मिल रहे हैं, जिनकी तैनाती उत्तर भारत के बेस पर ही की जा रही है ताकि मुश्किल वक्त के दौरान दुश्मन को मज़ा चखाया जा सके.

अभी कहां पर हैं राफेल विमान, कब तक भारत पहुचेंगे?

मंगलवार को राफेल विमानों ने फ्रांस से उड़ान भरी थी, जिसके बाद एक बार हवा में ही उनकी फ्यूलिंग हुई. जिसके बाद पांचों लड़ाकू विमान UAE के अल दाफरा बेस पर रुके. बुधवार सुबह सभी विमान यहां से उड़ान भरेंगे, जिसके बाद दोपहर दो बजे तक वो भारत के अंबाला पहुंच सकते हैं.

अंबाला में किस तरह की तैयारियां हैं?

करीब डेढ़ दशक के बाद भारतीय वायुसेना में इतनी अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस किसी लड़ाकू विमान की एंट्री हो रही है. और वो भी राफेल जो कि पिछले दो से तीन सालों से देश में राजनीतिक मुद्दा भी बना रहा है. ऐसे में अब जब अंबाला एयरबेस पर इसकी लैंडिंग होनी है, तो सुरक्षा व्यवस्था को कड़ा किया गया है. बेस के आसपास धारा 144 लगा दी गई है, साथ ही आधिकारिक फोटोग्राफी के अलावा किसी तरह की फोटोग्राफी पर रोक है.

हालांकि, सिर्फ अंबाला ही नहीं बल्कि राजस्थान के जोधपुर में भी तैयारियां की जा रही हैं. जिसे बैकअप के तौर पर तैयार किया जा गया है. उत्तर भारत में आज तेज बारिश का अलर्ट है, ऐसे में अगर मौसम की कुछ परेशानी होती है तो राफेल को जोधपुर में उतारा जा सकता है.

राफेल के भारत में आने के बाद क्या होगा?

आज दोपहर को राफेल विमान भारत पहुंचेंगे, जिसके बाद वायुसेना प्रमुख की उपस्थिति में उन्हें रिसीव किया जाएगा. हालांकि, ये वायुसेना में फाइनल इंडक्शन नहीं होगा, क्योंकि वो प्रक्रिया अगस्त के आखिर में की जाएगी. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बतौर मेहमान उपस्थित रह सकते हैं.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button