प्रेग्नेंसी के बाद कुछ इस तरह से हो जाती हैं महिलाओं की सेक्स लाइफ, पहले जैसी उत्तेजना के लिए…

प्रेग्नेंसी के दौरान आपके हार्मोन्स लगातार ऊपर-नीचे होते रहते हैं, जिसके चलते आपकी सेक्स लाइफ़ वैसे ही बैक गियर में जा चुकी होती है। आपको बस यही उम्मीद होती है कि बेबी की डिलीवरी के बाद सेक्स लाइफ़ पहले जैसी रोमांचक हो जाएगी। आप पहले की तरह अंतरंग पलों का लुत्फ़ उठा सकेंगी। पर जैसा कि दूसरी चीज़ों के साथ होता है, हम सोचते कुछ हैं, हक़ीक़त में कुछ और ही होता है। यही पोस्ट प्रेग्नेंसी आपकी सेक्स लाइफ़ के साथ भी होता है।

आपको ऐसा लगेगा कि पहली बार सेक्स कर रहे हैं

ज़्यादातर महिलाओं का ऐसा अनुभव है कि प्रेग्नेंसी के बाद रिश्ते में सेक्स की वापसी पहले जैसी तो बिल्कुल नहीं रही। सबसे पहले तो वे लंबे समय तक यह तय नहीं कर पा रही थीं कि क्या उनका शरीर सेक्स के लिए तैयार है? उनके मन में कई तरह की शंकाएं और डर का राज होता है। कुल मिलाकर पहली बार सेक्स करने से पहले जिस तरह की मानसिक अवस्था से अमूमन महिलाएं गुज़रती हैं, प्रेग्नेंसी के बाद भी वही अनुभव होता है।

पहले जैसी उत्तेजना अब बीती बात हो जाएगी

जहां पहले आप सेक्स के नाम से ही एक्साइटेड फ़ील करने लगती थीं, प्रेग्नेंसी के तुरंत बाद उत्तेजना का वह स्तर महसूस नहीं कर पाएंगी। ज़्यादातर महिलाएं इसके चलते बहुत बुरा महसूस करने लगती हैं। पर सच तो यह है कि यह स्थिति हमेशा के लिए नहीं बनी रहने वाली है, इस बात को दिमाग़ में बैठा लें। इससे आपकी सेक्स लाइफ़ को नॉर्मल होने में मदद मिलेगी।

आप ऐक्चुअल ऑर्गैज़्म के बजाय फ़ेक ऑर्गैज़्म का पहले से ज़्यादा अनुभव करेंगी

पोस्ट डिलीवरी ज़्यादातर महिलाओं की वेजाइना का लूब्रिकेशन कम हो जाता है, बेशक हार्मोनल उतार-चढ़ाव इसके लिए ज़िम्मेदार होते हैं। आप महसूस करेंगे कि फ़ोरप्ले के जो तरीक़े और सेक्स पोज़िशन्स आपको उत्तेजित करते थे, उनसे अब बात नहीं बन पा रही है। ऐसे में आख़िरकार होता यह है कि महिलाएं फ़ेक ऑर्गैज़्म का प्रदर्शन करना शुरू कर देती हैं।

बच्चा भी आपकी सेक्स लाइफ़ की समस्याओं को बढ़ाने का काम करेगा

वैसे आप मातृत्व का सुख भले ले रही हों, पर बच्चे की ज़िम्मेदारी दाम्पत्य सुख से आपको दूर कर देगा। सबसे पहले तो थकान के चलते आपका मूड रहेगा नहीं। अगर ग़लती से आप दोनों ने कुछ करने का प्लान बनाया तो बच्चा जागकर अरमानों पर ठंडा पानी फेर देगा। कम से कम जब तक बच्चा पूरी तरह से आप पर निर्भर होगा, आपकी सेक्स लाइफ़ इसी तरह ठंडी-ठंडी ही बीतेगी।

सेक्स नहीं, आपको नींद चाहिए होगी

नई-नई मां बनने वाली ज़्यादातर महिलाओं को सेक्स की नहीं, सबसे अधिक नींद की ज़रूरत होती है। कारण साफ़ है, नवजात बच्चे को संभालने के चक्कर में शायद ही किसी नई-नवेली मां की नींद पूरी होती हो। वे जिस दिन सुकून के दो पल बैठ भी लें, उस दिन ख़ुद को दुनिया की सबसे भाग्यशाली महिला समझने लगती हैं।

कभी आकर्षण का केंद्र रहे ब्रेस्ट दर्द दे सकते हैं

प्रेग्नेंसी के दौरान आपके फ़ुलर और फ़र्म ब्रेस्ट्स आपको सेक्स गॉडेस महसूस कराते थे, पर डिलीवरी के बाद ब्रेस्टफ़ीडिंग कराने के चलते आप उनका छुआ जाना भी नहीं पसंद करेंगी। अचानक से ब्रेस्ट्स आपके शरीर के सबसे सेंसिटिव पार्ट बन गए हैं। इससे भी बुरा तब हो सकता है, जब पार्टनर पहले की तरह उनको छुए, तब आपको दर्द हो। कुछ-कुछ महिलाएं उत्तेजना के बाद लीकेज भी महसूस करती हैं।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button