KKR से हारने के बाद धोनी ने सीधे इस खिलाड़ी को ठहराया हार का जिम्मेदार

- in खेल

कोलकाता नाइट राइडर्स ने आईपीएल 2018 के 33वें मैच में लीग की टॉप टीम चेन्नई सुपरकिंग्स को काफी आसानी से हरा दिया। केकेआर ने टॉस जीतने के बाद पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। चेन्नई की टीम ने फिर से एक अच्छी शुरुआत की और पॉवरप्ले में काफी रन बनाए। मध्यक्रम में विकेट गिरने के बाद मेहमान टीम पर दबाव जरूर आया लेकिन धोनी ने अपने जबरदस्त फॉर्म से टीम की वापसी कराई और एक अच्छा फिनिश किया। धोनी ने अपनी पारी की आखिरी गेंद पर चौका लगाकर टीम का स्कोर 177 रन तक पहुंचाया।KKR से हारने के बाद धोनी ने सीधे इस खिलाड़ी को ठहराया हार का जिम्मेदार

केकेआर से हारने के बाद धोनी का बयान

उसके बाद स्कोर का पीछा करने उतरी केकेआर टीम ने भी अच्छी शुरुआत की लेकिन चेन्नई के गेंदबाजों ने भी अच्छी गेंदबाजी की। दूसरे ओवर में सुनिल नारायण का लगातार दो गेंदों पर कैच छुटना काफी हद तक टीम को महंगा पड़ा। उसके बाद केकेआर के युवा बल्लेबाज शुभमन गिल ने 158 से ज्यादा की स्ट्राइक रेट से नाबाद 57 रन बनाए और टीम को जीत की दहलीज पर पहुंचा दिया। अंतिम में केकेआर के कप्तान दिनेश कार्तिक ने भी 18 गेंदों में 45 रन बनाकर टीम की जीत को काफी आसान बना दिया।

इस मैच में हारने के बाद चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान एम एस धोनी ने कहा कि,

“अगर विकेट पहली पारी जैसा ही रहता तो यहीं स्कोर हमारे लिए पर्याप्त था। मुझे ऐसा लगता है कि विकेट काफी स्लो था लेकिन आपको सीम गेंदों पर काफी हार्ड हिट करना पड़ता है। जब आप स्लो गेंद फेंकते हो, अगर आप सीम गेंद करते हो, बाउंस का अच्छा प्रयोग करते हो तभी आप ऐसे गेम को जीत सकते हो। दूसरी पारी में विकेट थोड़ा ज्यादा आसान हो गया। रात को लाइट के अंडर अगर आपको ऐसी विकेट में खेलना हो तो बाद में खेलना हमेशा बेहतर रहता है.”

क्रिकेट की ये 5 सबसे बड़ी लड़ाईयां, देखकर फटी की फटी रह जाएँगी आपकी आँखे !!

धोनी ने आगे कहा कि,

“ओवरऑल मैच हारना काफी दुर्भाग्यापूर्ण है। हमे अपनी गेंदबाजी में काफी सुधार करना होगा। अगर आज हम कुछ ज्यादा रन बनाते को हमारे लिए अच्छा होता। लेकिन सबसे ज्यादा खराब हमारी फिल्डिंग रही। जिसका असर मैच में भी पड़ा। आप बाहर जैसे मर्जी रहे, लेकिन फिल्ड पर आपको एकदम चुस्त रहना होता है। हसी इसका एक बेहतर उदाहरण है। जैसे वो फिल्ड पर एक लो लेवल के फिल्डर होने के बाद भी अच्छी फिल्डिंग करते थे, उसी तरह की मेहनत फिल्ड पर करनी पड़ेगी। अगर गेंदबाज अच्छा नहीं कर पाते हैं तो गेंदबाजी में बदलाव करना चाहिए। अगर कोई भी अच्छा नहीं कर रहा है तो गेम जल्दी ही खत्म हो जाता है। जैसा कि आज भी हुआ.”

मुझे लगता है कि,

“गेंदबाजों को अपनी गति में बदलाव करने की जरूरत है और आपको बल्लेबाजों की ताकत से अवगत होना चाहिए.” केकेआर की तरफ से उनके युवा बल्लेबाज शुभमन गिल ने बता दिया, कि क्यों क्रिकेट एक्सपर्ट उन्हें टॉप ऑर्डर का बल्लेबाज मानते हैं। आज उन्हें पहली बार टॉप ऑर्डर में आने का मौका मिला और उन्होंने 36 गेंदों में 57 रनों की शानदार पारी खेलकर मैन ऑफ द मैच भी ले लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

IND vs PAK LIVE: पाकिस्तान ने जीता टॉस, पहले बैटिंग का फैसला

पाकिस्तान ने रविवार को भारत के खिलाफ एशिया