सीएम की सख्ती पर तत्काल हुई भूमाफिया के खिलाफ कार्रवाई

  • मुख्यमंत्री योगी का जनता दर्शन
  • शिकायत सुन दिलाया शीघ्र निस्तारण का भरोसा

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दौरे के दूसरे दिन गुरुवार की सुबह की दिनचर्या के बाद गोरखनाथ मंदिर में लोंगों की सुनवाई की। सबको कार्रवाई का भरोसा दिलाया। जनता दरबार में गोरखपुर सहित अन्य जिलों से करीब 100 से अधिक फरियादी आए थे । सीएम योगी आदित्यनाथ एक-एक कर फरियादियों के पास गए। सबकी समस्या सुनने के साथ प्रार्थना पत्र लेकर अधिकारियों को कार्रवाई का निर्देश दिया। अधिकारियों से कहा कि गोरखपुर मंडल के शिकायती पत्रों का निस्तारण वह शीघ्र करें। इसके अलावा अन्य जिलों की समस्याओं को लखनऊ के लिए दे दें।
आज के जनता दरबार में भी सीएम योगी का तेवर भू-माफियाओं के खिलाफ काफी सख्त दिखा। आज भी सबसे अधिक शिकायतें पुलिस से और भूमि विवादों से जुड़ी थी। जब सीएम एक-एक कर सभी की शिकायतें सुन रहे थे। तभी कैंट क्षेत्र के महादेव झारखंडी की महिला बिंदू देवी ने अपनी समस्या सीएम के सामने रखी। जिसमें ओमप्रकाश पांडेय के खिलाफ विभिन्न थानों में दर्ज मुकदमों का उल्लेख भी था। महिला ने कहा कि भू-माफिया ओमप्रकाश पांडेय और उसके सहयोगी तहसील कर्मचारियों की मिलीभगत से उनकी जमीन फर्जी तरीके से बेच दिए। वह पैसे भी नहीं दे रहा। इतना सुनते ही सीएम अधिकारियों की तरफ मुड़े और बोले की अभी भी गोरखपुर में भूमाफिया बचे हैं क्या ? उनके इस सवाल पर मौजूद अधिकारी चुप हो गए। इस पर मुख्यमंत्री ने तत्काल सख्त कार्रवाई करने को कहा। योगी ने कहा कि भूमि विवाद के मामलों पर गंभीर हो जाएं। भू-माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई तेज करते हुए उनसे सख्ती से निपटा जाए।

सबूतों को हटा पुलिस ने लगा ​दी फाइनल रिपोर्ट
वहीं, बेनीगंज एकला नंबर 2 गुलरिहा के रहने वाले झीनक ने सीएम को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि कुछ भू-माफिया उनकी करीब 29 लाख की जमीन का फर्जी ढंग से रजिस्ट्री करा लिया । उन्होंने सीएम योगी से मामले की फिर से विवेचना और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। सीएम के सामने पहुंचे इस तरह के करीब आधा दर्जन मामलों पर सीएम योगी ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए।

योगी ने गुल्लू को दुलारा
इससे पहले मंदिर में मुख्यमंत्री की दिनचर्या परंपरागत रही। सुबह उन्होंने सबसे पहले नाथ पंथ के आदि गुरु गोरक्षनाथ के दरबार में हाजिरी लगाई और फिर अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ के समाधि स्थल पर जाकर उनका आशीर्वाद लिया। मंदिर परिसर का भ्रमण करने के क्रम में मुख्यमंत्री हमेशा की तरह गोशाला गए और करीब आधा घंटा गोशाला में गुजारा। उन्होंने गायों को चना और गुड़ खिलाया। साथ ही मंदिर में सीएम योगी के कालू के नए साथी गुल्लू को भी दुलारा।

Back to top button