कंडोम के बारे में इन बातों पर आपको विश्वास नहीं करना चाहिए

- in जीवनशैली

जब आप यौन संबंध बनाने के बारे में सोचते हैं तो कंडोम का इस्तेमाल आपके लिए जरूरी होता है क्योंकि ये आपको अनचाहे प्रेग्नेंसी से बचाता है और साथ ही ये आपको और भी कई स्वास्थ्य समस्याओं से बचाने में भी आपकी मदद करता है। कंडोम का इस्तेमाल करने से आपको एसटीआई जैसी घातक समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है। आजकल कंडोम महिलाओं और पुरुषों दोनों के लिए आ गये हैं, लेकिन दोनों का इस्तेमाल एक साथ नहीं किया जा सकता है। कंडोम स्पर्म और यूटेरस के बीच एक दीवार की तरह काम करता है जिससे टेस्टकिल तक स्पर्म नहीं पहुंच पाता है। जो गर्भधारण करने से रोकने में मददगार होता है। लेकिन लोगों को कंडोम से जुड़ी बहुत सारी गलतफहमी होती हैं जो उनके लिए कई बार हानकारक साबित हो सकती है। आइए जानते हैं कंडोम के बारे में मिथक जिन पर आपको विश्वास नहीं करना चाहिए।

“कंडोम 100% विश्वसनीय हैं”

यह कंडोम के बारे में सबसे लोकप्रिय मिथक है। सबसे अच्छे गर्भनिरोधक तरीकों में से एक होने के बावजूद कंडोम कभी भी फट सकता है। हालांकि इस घटना की संभावना वास्तव में कम होती है, फिर भी ऐसा हो सकता है। तो, आप पूरी तरह से कंडोम पर भरोसा नहीं कर सकते हैं।

कंडोम ना केवल गर्भधारण को रोकने के लिए उपयोग किया जाता है बल्कि कई घातक यौन संचारित रोग जैसे एचआईवी एड्स, सिफलिस आदि की रोकथाम के लिए भी उपयोग किया जाता है। यदि आप अपने साथी की यौन स्वास्थ्य से अच्छी तरह अवगत नहीं हैं, तो इसका इस्तेमाल आपके लिए सुरक्षित हो सकता है।

हार्ट अटैक आने के 1 महीने पहले से ही बॉडी में आने लगते हैं ये 5 बदलाव, इग्नोर न करें

“कंडोम एक्सपायर नहीं होती”

यह मानना गलत है कि कंडोम एक्सपायर नहीं होती है। हर कंडोम के पैकेट पर एक्सपायरी डेट होती है। जब कंडोम एक्सपायर होता है तो उसका लचीलापन कम हो जाता है ऐसे में इसके फटने की संभावना अधिक हो जाती है। इसलिए हमेशा कंडोम की एक्सापायरी डेट जरुर जांच लें।

“दो कंडोम पहनना सुरक्षित होता है”

यह एक व्यापक रूप से परिचालित गलत धारणा है। एक समय में दो कंडोम का इस्तेमाल करना एक भयानक विचार होता है। जब आप दो कंडोम पहनते हैं तो इससे कंडोम के फटने की संभावना बढ़ जाती है।

You may also like

रस्सी कूदने के है कई फायदे, बॉडी में होते है ऐसे बदलाव

रस्सी कूदना सबसे आसान और बेहतर कसरत माना