दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बार्डर पर कृषि कानून विरोधी धरने में एक प्रदर्शनकारी की संदिग्ध हालत में हुई मौत

दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बार्डर (कुंडली बार्डर) पर कृषि कानून विरोधी धरने में एक प्रदर्शनकारी की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। मृतक पंजाब का रहने वाला है। वह लंबे समय से प्रदर्शन में शामिल था। उनकी ट्राली के लोगों के पिछले दिनों पंजाब चले जाने के बाद से वह अकेला ही रह रहा था। बुधवार सुबह लोगों ने उसका शव फंदे पर लटका देखकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव उतरवाकर पोस्टमार्टम को भिजवाकर जांच शुरू कर दी है। अभी तक पुलिस को सुसाइड नोट नहीं मिला है।

कृषि कानून विरोधी प्रदर्शन में पंजाब की दर्जनों ट्रालियां कुंडली बार्डर पर हैं। इनमें प्रदर्शनकारी अपनी गांव-क्षेत्र के लोगों के साथ रह रहे हैं। पंजाब के जिला फतेहगढ़ साहिब की तहसील अमरोह के गांव रुड़की का ट्रैक्टर-ट्राली भी लंबे समय से कुंडली बार्डर पर थी। प्रदर्शनकारियों में शामिल रुड़की गांव का रहने वाला 45 वर्शीय व्यक्ति गुरप्रीत सिंह सिंह भी यहीं पर था। दीपावली से पहले उसकी ट्राली के अन्य साथी पंजाब चले गए थे। वह अपनी ट्राली पर अकेला ही रह रहा था।

बुधवार सुबह लोगों ने देखा कि एक व्यक्ति का शव हुडा सेक्टर में अंसल सुशांत सिटी से आगे नांगल रोड पर पार्कर माल के पास एक नीम के पेड़ पर रस्सी से लटका हुआ है। लोगों ने इसकी सूचना कुंडली थाना पुलिस को दी। पुलिस ने शव को उतरवाकर पहचान का प्रयास किया। मृतक की पहचान पंजाब के गुरुप्रीत सिंह पुत्र गुरमेल सिंह के रूप में हुई। वह भारतीय किसान यूनियन सिद्धपुर से जुड़ा था। उसकेे प्रधान जगजीत सिंह ढकेवाल हैं। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम को भेजकर जांच शुरू कर दी है। पुलिस उसके आसपास अन्य ट्रालियों पर रहने वाले प्रदर्शनकारियों से भी जानकारी जुटा रही है। प्रदर्शनकारियों के माध्यम से मृतक के स्वजनों को सूचना भेज दी गई है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen − 13 =

Back to top button