चीन को पता चली उसकी औकात, आखिरकार भारत के आगे इस अहम मुद्दे पर झुक ही गया चीन

भारत की प्रगति से जलने वालों में पाकिस्तान के साथ-साथ चीन का नाम भी आगे है। ये दोनों ऐसे देश हैं जो भारत पर हमेशा बुरी नजर लगाए रहते हैं। हमेशा इस मौके की तलाश में रहते हैं कि कब भारत कोई गलती करे और उसकी जगहों को हड़प लिया जाए। जहां पाकिस्तान कश्मीर पर अपना कब्जा जमाना चाहता है, वहीं चीन अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख को अपने कब्जे में लेना चाहता है। लेकिन जब से देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हुए हैं, तब से चीन को उसकी असली औकात पता चल गयी है।

ये भी पढ़े:  Video: जब कार के अंदर लड़का-लड़की करते रहे ये काम, बिना हेडफोन ना देखे इस वीडियो को !

ये भी पढ़े: शर्मनाक :-कॉलेज गर्ल्स ने इस प्रकार के वीडियो अपलोड किये देख ,आप भी यही कहेगे

चीन दिख रहा है भारत के आगे कमजोर: 

कुछ दिनों पहले भारत ने चीन से आने वाले फलों के आयात को रोक दिया था, जिससे चीन को काफी नुकसान उठाना पड़ा। यह देखकर चीन को अहसास हो गया कि वह भारत पर निर्भर है और भारत से बैर रखकर उसका काम नहीं हो सकता है, इसलिए वह भारत के सामने घुटने टेक चुका है। चीन ने भारत से ऐसा कुछ कहा, जिसे सुनकर आपको यकीन नहीं होगा कि चीन ऐसा कुछ कह सकता है। यह पहली बार है, जब चीन कमजोर दिखाई पड़ रहा है।

सैन्य प्रभाव को बढ़ाने का नहीं कर रहा है प्रयास:

चीन न्यू सिल्क रोड (वन बेल्ट-वन रोड) पर काम कर रहा है और उसने सफाई दी है कि इससे वह अपने सैन्य प्रभाव में वृद्धि करने की कोई योजना नहीं बना रहा है। चीन अपनी सैन्य ताकत को विदेशी धरती पर बढ़ाने का कोई काम नहीं करेगा। यह सब चीन के रक्षा मंत्रालय की तरफ से कहा गया है। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का यह ड्रीम प्रोजेक्ट एशिया और अफ्रीका को सड़क, जल और रेल मार्गों से जोड़ने का है। एक सम्मलेन के दौरान उन्होंने कहा था कि यह शांति और उन्नति का प्रोजेक्ट है।

You may also like

अब US के स्कूलों में पढ़ाया जाएगा भारत की गदर पार्टी का आंदोलन

भारत के स्वतंत्रता संग्राम में योगदान देने वाली