40 हजार रुपए में बनिये सीरियल किसर

हर देश में तरह-तरह के त्‍योहार मनाए जाते हैं। इनमें अलग-अलग तरह की परंपराएं भी निभाई जाती हैं। लेकिन इंडोनेशिया के डेनपसार शहर में एक अजीबो-गरीब उत्‍सव मनाने का रिवाज है। यहां लड़के-लड़कियां एक दूसरे को जी भरके किस करते हैं। यहां तक इस उत्‍सव में लोग अजनबियों 1_1440880580को भी बड़े शौक से किस करते हैं। इस फेस्टिवल को ‘ओमेड ओमेडेन’ कहते हैं।

कुंवारे लड़के-लड़कियां मनाते हैं त्‍योहार

इसे न्‍यू र्इयर के अगले दिन मनाया जाता है। इस उत्सव पर किस करने की परंपरा होती है। इसमें 17 से 30 साल की उम्र के अविवाहित लड़के-लड़कियां भाग लेते हैं और एक दूसरे को चूमते हैं। हैरानी की बात तो यह हाती है कि ये लोग पहले से एक दूसरे को नहीं जानते होते। कई बार यही उत्सव इन कुंवारे लोगों के लिए मिलन का ज़रिया बन जाता है। हर साल इस उत्सव में हजारों लोग हिस्सा लेते हैं।

100 साल पुराना है रिवाज

यहां और भी कई दिलचस्‍प चीजें होती हैं उत्‍सव मनाने के दौरान। अगर कोई जोड़ा किस करते-करते उसमें कुछ ज्यादा ही डूबने लगता है गांव के पुजारी उन पर बाल्टी भर कर पानी डाल देते हैं। माना जाता है कि यह रिवाज 100 साल पहले शुरू हुआ था। इस उत्सव के पीछे मान्यता है कि किस करने से इस गांव में समृद्धि और सभी की अच्छी सेहत बनी रहती है।

‘ओमेड-ओमेडेन’ का क्‍या है मतलब

‘ओमेड-ओमेडेन’ का मतबल है अपनी तरफ खींचना। यानि एक दूसरे को अपनी तरफ आकर्षित करना ताकि कुंवारे लड़के-लड़कियों अपना जीवनसाथी मिल जाए। कहा यह भी जाता है कि यह रिवाज एक नर और मादा सुअर के बीच हुई लड़ाई के बाद शुरू हुआ था। जो दोनों के बीच अच्छे और बुरे तत्वों की खींचतान का प्रतीक है।

40 हजार रुपए है किराया

अगर आप भी कुंवारे या कुंवारी हैं तो आप भी मनाइये यह त्‍योहार। इसे मनाने के लिए आपको कोई भारी रकम नहीं चुकानी पड़ेगी। आप दिल्‍ली से इंडोनेशिया सिर्फ 40 हजार रुपए में जा सकते हैं और इस उत्‍सव का मजा ले सकते हैं।

 

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button