22 साल बाद मिल रहा ऐसा अनोखा मौका, भूल से भी ना जाने दे इस मौके को

हमारी हिंदू संस्कृति में कई तरह के रिति-रिवाजों और परम्पराओं को एक अलग ही महत्व है । ऐसा ही कुछ आगमी दिनों में आने वाले पूर्णिमा के दिन को लेकर भी है बुध्द पूर्णिमा का दिन इस महीनें के 30 तारीक को है। हिन्दू कैलेंडर के अनुसार पूरा चन्द्रमा दिखाई देने वाला दिन पूर्णिमा कहलाता है। पूर्णिमा का दिन बहुतायत एवं समृद्वि का प्रतीक है। और ऐसे में यह दिन बेहद ही शुभ माना गया है। पूर्णिमा मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु का दिन है। ऐसे में इस महीनें की पूर्णिमा को लेकर यह मान्यता है कि यह दिन भगवान बुध्द के अवतार का दिन है जिन्हे भगवान के दशावतार में से एक माना गया है।
22 साल बाद मिल रहा ऐसा अनोखा मौका, भूल से भी ना जाने दे इस मौके को
ऐसा माना जाता है की इस दिन घर में लक्ष्मी का आगमन होता है। ऐसे में इस दिन को लेकर कई तरह के विशेष उपायों को बताया गया है जो अगर आप भी इस पूर्णिमा के दिन करेंगे तो आपके घर में भी लक्ष्मी का आगमन होगा और आपकी किस्मत भी चमक सकती है। बुद्ध पूर्णिमा को ये एक दुर्लभ मौका है जब आप अपनी किस्मत चमका सकते हैं। पूर्णिमा के दिन सुबह जल्दी उठकर घर की सफाई करें और घर के मुख्यद्वार के बाहर की जगह को अच्छे से धो लेंवे। फिर स्नान आदि कर करके साफ कपड़ो को पहनें। फिर कटोरी में थोड़ी हल्दी लेंवे और उसमें थोड़ा ताजा पानी मिलाकर घोल तैयार करें। इस घोल से घर के मैनगेट पर एक स्वस्तिक बनाएं। और इस स्वास्तिक पर कुंकुम-चावल इत्यादि चीजों को चढ़ाए।

जब सीता जी से हुआ था यह घोर पाप, जानकर यकीन नहीं होगा

और अपने पूरें घर को सुगधित वातारण से महकाते रहे। और सुबह माता लक्ष्मी को साबूदाने की खीर का भोग लगाए। ऐसा करने से आपके घर में लक्ष्मी का वास बना रहेगा और आपका घर खुशियों की किलकारी से गूंजता रहेगा और किसी तरह की बुरी विपदा भी आपके घर पर नही आएगी।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button