16 साल बाद एक साथ चार ग्रहों राहु, केतु, शुक्र और मंगल का सम सप्तम योग बन रहा है। इस योग के कारण सामाजिक उथल-पुथल बढ़ेगी। वहीं यौन संबंधी रोगों से भी लोग परेशान रहेंगे।

ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी के अनुसार भैतिक सुख, सौंदर्य कला और सांसारिक सुख आदि का कारक शुक्र ग्रह शुक्रवार की रात्रि 11.33 बजे मिथुन राशि से निकलकर कर्क राशि में प्रवेश कर गया है। शुक्र इस राशि में 4 जुलाई की रात्रि 11 बजे तक रहेंगे। वृषभ और तुला राशि के स्वामी शुक्र कर्क राशि में पहले से ही बैठे हुए राहु के साथ रहेंगे। वहीं कर्क राशि से ठीक सातवें स्थान पर यानि मकर राशि में मंगल केतु मौजूद होने से इन 4 ग्रहों का परस्पर सम सप्तम योग बना रहा है। इन ग्रहों के मिलने से समाज में झूठ, लालच, बलात्कार, प्रेम प्रसंग, जैसी प्रवृत्ति बढ़ेगी।

यदि किसी की शवयात्रा दिखाई दे जाए तो जरुर करें ये चार काम

इन राशियों पर यह रहेगा प्रभाव –

मेष राशि – अच्छे अवसर मिलेंगे।

वृषभ राशि – यात्रा के योग बनेंगे।

मिथुन राशि – आपसी रिश्तों में बढ़ेगा प्यार।

कर्क राशि – भौतिक सुख सुविधाएं बढ़ेंगी।

सिंह राशि – खर्चे बढ़ सकते हैं।

कन्या राशि – आय के स्त्रोत खुलेंगे।

तुला राशि – प्रेम प्रसंग से दूर रहे।

वृश्चिक राशि – प्रतिष्ठा बढ़ेगी।

धनु राशि – स्वास्थ्य पर ध्यान दें।

मकर राशि – नौकरी व्यवसाय से लाभ मिलेगा।

कुंभ राशि – मेहनत से सफलता मिलेगी।

मीन राशि – खुशियां देंगी घर में दस्तक।