भारत ने रचा इतिहास, इसरो ने अंतरिक्ष में एक साथ छोड़े 104 उपग्रह

नई दिल्ली: भारत रिकॉर्ड 104 सेटेलाइट छोड़कर इतिहास रच दिया है। उपग्रहों का प्रक्षेपण पीएसएलवी-सी37 से किया गया। एक अंतरिक्ष अभियान में इससे पहले इतने उपग्रह एक साथ नहीं छोड़े गए। भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसके पहले 22 जून, 2016 को एक बार में 20 उपग्रह छोड़ चुकी है।104 सेटेलाइट छोड़कर इतिहास रच दिया

इस उपलब्धि के साथ ही भारत रूसी अंतरिक्ष एजेंसी द्वारा एक बार में 37 उपग्रहों के सफल प्रक्षेपण की तुलना में भारत एक बार में 104 उपग्रह प्रक्षेपित करने में सफलता हासिल कर इतिहास रचने वाला पहला देश बना है। इस अभियान में भेजे गए 104 उपग्रहों में से  तीन भारतीय, 88 अमेरिकी और शेष इजरायल, कजाखिस्तान, नीदरलैंड्स, स्विट्जरलैंड और संयुक्त अरब अमीरात से हैं। 

इस अभियान के बारे में जानकारी देते हुए इसरो के चेयरमैन एएस किरण कुमार ने मीडिया से कहा कि इनमें से एक उपग्रह का वजन 730 किग्रा का है, जब बाकी के दो का वजन 19-19 किग्रा है। इनके अलावा हमारे पास 600 किग्रा और वजन भेजने की क्षमता थी, इसलिए हमने 101 दूसरे सैटेलाइटों को भी लॉन्च करने का फैसला किया।

एक साथ ही 104 सैटेलाइट्स को भेजने के बाद इस बाजार में भारत की जगह और मजबूत होगी। इसकी सबसे बड़ी वजह तो यही है कि अमरीका की तुलना में भारत से किसी सैटेलाइट को अंतरिक्ष में भेजने का खर्चा करीब 60-65 प्रतिशत कम होता है, मोटे तौर पर महज एक तिहाई खर्च में भारत किसी का सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेज सकता है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button