30 साल बाद मिले यूज्ड कंडोम ने शख्स को पहुंचाया जेल

अमेरिका के इंडियाना में 8 साल की बच्ची से रेप और हत्या के मामले का खुलासा हुआ है. ये केस साल 1988 का है. ताज्जुब करने वाली बात ये है कि 30 साल बाद ‘यूज्ड कंडोम’ से इस केस का खुलासा हुआ और आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. बता दें कि इस केस की काफी चर्चा हुई थी और इसके बाद बच्चियों की सुरक्षा को लेकर बड़ी बहस शुरू हुई थी.

इंडियाना के ग्रेबिल में रहने वाले 59 साल के जॉन डी मिलर को पुलिस ने रविवार को उसके घर से इस मामले में गिरफ्तार किया है. कोर्ट डॉक्युमेंट के मुताबिक, इंडियाना स्टेट पुलिस और फोर्ट वेन पुलिस ने इस केस का खुलासा किया. रिपोर्ट के मुताबिक, जब पुलिस मिलर के घर पर पहुंची तो अधिकारियों ने उससे पूछा कि क्या तुम्हें पता है कि हम यहां क्यों हैं? तो उसने बेखौफ होते हुए मृतक बच्ची ‘अप्रेल टिंस्ले’ का नाम लिया.

क्या है मामला

एफबीआई के मुताबिक, 1 अप्रैल 1988 को अप्रेल टिंस्ले अपने घर से दोस्त के घर जाने के लिए निकली थी. इसी बीच रास्ते में किसी ने उसका अपहरण कर लिया था. तीन दिन बाद डेकाब काउंटी के बाद टहल रहे एक व्यक्ति को एक बच्ची की लाश दिखी. बाद में उसकी पहचान अप्रेल टिंस्ले के रूप में हुई. जांच में रेप के बाद हत्या का मामला सामने आया. पुलिस को वहां से 1000 फीट की दूरी पर अप्रेल का जूता मिला. हत्यारे ने अपना डीएनए पहचान तो छोड़ा था, लेकिन काफी तफ्तीश के बाद भी उसकी पहचान नहीं हो पा रही थी.

अभी अभी आई बड़ी खबर: भारत की सीमा के नजदीक चीन ने खोला मौसम अवलोकन केंद्र

केस में नया मोड़

केस में साल 1990 में नया मोड़ आया. हत्यारे ने खलिहान में एक संदेश छोड़ा. इसमें लिखा था, ”मैंने 8 साल की अप्रेल टिंस्ले की हत्या कर दी. मैं दोबारा मारूंगा.” साल 2004 में एक बार फिर हत्यारे ने धमकी भरी चिट्ठी छोड़ी. इसके साथ ही उसने कुछ फोटोज और यूज्ड कंडोम को फोर्ट वेन एरिया में तीन लड़कियों की साइकिल पर रख दिया. फोटो में एक आदमी नीचे से आधा न्यूड दिख रहा था. पुलिस ने छोड़े गए यूज्ड कंडोम का डीएनए टेस्ट किया तो वह अप्रेल के पास से मिले डीएनए से मैच कर गया.

चिट्ठी में ये लिखा था

अप्रेल ने अपनी चिट्ठी में लिखा था, ”हाय हनी! मैं तुम्हें देख रहा हूं. मैं वहीं व्यक्ति हूं जिसने अप्रेल का अपहरण किया और हत्या किया था. तुम मेरा अगला शिकार हो.” कोर्ट डॉक्युमेंट के मुताबिक, मई 2018 से पुलिस ने नए सिरे से मामले की जांच शुरू की. पुलिस ने डीएनए रिपोर्ट को ही जांच का आधार बनाया. दो जुलाई से पुलिस ने मिलर को सर्विलांस पर लगा दिया.

कचरे में मिले कंडोम से हुई पहचान

6 जुलाई को पुलिस ने मिलर के घर से फेंके गए कचरे की जांच की. यहां उसे तीन यूज्ड कंडोम मिले. पुलिस को जांच में ये मिला कि इन कंडोम का डीएनए साल 2004 में मिले कंडोम और साल 1988 में अप्रेल के पास से मिले डीएनए रिपोर्ट से मैच कर रहा है. इसके बाद पुलिस मिलर के घर पहुंची और उससे पूछताछ शुरू कर दी.

मिलर ने जुर्म कबूला

मिलर ने बाद में ये कबूल किया कि उसने एक अप्रैल 1988 को बच्ची का अपहरण किया था. इसके बाद रेप करने के बाद उसकी हत्या कर दी थी. उसने बताया कि उसने बच्ची की हत्या इसलिए की थी कि वह पुलिस को मामले का खुलासा न कर दे. मिलर इस समय एलेन काउंटी जेल में बंद है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

चीन का कर्ज बढ़कर 2,580 अरब डॉलर हुआ

चीन का बढ़ता कर्ज अब 2,580 अरब डॉलर