हाईकोर्ट के फ़ैसले के खिलाफ़ सुप्रीम कोर्ट नहीं जाएगा BCCI

bcci_650x400_61448262016-300x185एजेन्सी/ नई दिल्ली: आईपीएल के मैचों को महाराष्ट्र से बाहर करवाए जाने के बॉम्बे हाई कोर्ट के फ़ैसले के बाद बीसीसीआई के सामने पहली परेशानी उन मैचों का कहां करवाया जाए इसको लेकर है। 30 अप्रेल के बाद 13 आईपीएल मैच महाराष्ट्र में खेले जाने थे, जिसमें फ़ाइनल मैच भी शामिल है।

कोर्ट से लिखित फ़ैसला मिलने पर तय होगी रणनीति
इस बाबत जब आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला से बात की गई तो उन्होंने साफ़ कर दिया कि इसको लेकर अभी बातचीत होना बाकी है। बोर्ड एक बार कोर्ट की तरफ़ से लिखित फ़ैसला मिलने के बाद ही अपनी रणनीति तय करेगा।

क्या फ़ैसले के खिलाफ़ जाएंगे सुप्रीम कोर्ट?
राजीव शुक्ला ने इस सवाल के जवाब में एनडीटीवी से खास बातचीत में कहा कि वो सुप्रीम कोर्ट नहीं जाएंगे और फ़ैसले का पालन करेंगे।

कहां कितने मैच?
महाराष्ट्र में IPL के दौरान 20 मैच खेले जाने थे। 9 मुंबई में, 8 पुणे में और 3 नागपुर में। नागपुर में किंग्स इलेवन पंजाब को अपने मैच खेलने थे। अब माना ये जा रहा है कि ये तीनों मैच पंजाब के होम ग्राउंड मोहाली में शिफ़्ट किए जा सकते हैं। इसके अलावा पहले मैच को मुंबई में खेलने के लिए बॉम्बे हाई कोर्ट ने पहले ही अनुमति दे दी थी। मतलब बाकी बचे 16 मैचों को शिफ़्ट करने की बात है, जिसके लिए खबरों के अनुसार कानपुर, इंदौर और रांची को पहले से ही तैयार रहने के लिए कहा गया था।

कर्नाटक के बैंगलोर में भी दिक्कत
महाराष्ट्र के अलावा कर्नाटक के बैंगलोर में भी इस बाबत पीआईएल याचिका आईपीएल के खिलाफ़ दायर की गई है। वहां पर भी आईपीएल मैचों को कराने पर रोक लगाने की मांग है।

कोलकाता में होगा फ़ाइनल?
बंगाल क्रिकेट संघ की तरफ़ से ये बात सामने आई है कि अगर कोलकाता में कोई मैच शिफ़्ट किया जाता है तो वो इसके लिए पूरी तरह से तैयार है। मतलब कोलकाता ने अपनी दावेदारी पेश कर दी है। इससे पहले टी-20 विश्व कप के दौरान भी धर्मशाला से आखिरी वक्त में मैच शिफ़्ट होने पर उस मैच की मेज़बानी का मौका कोलकाता को मिला था।

 

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button