हसी बोंले- कप्तानी के मोर्चे पर कोहली में नजर आता है पोंटिंग वाला ये अंदाज

- in खेल

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली जिस तरह से सीरीज दर सीरीज जीत दर्ज कर रहे हैं उस लिहाज से उन्होंने अपने आपको नई सदी के अनोखे लीडर के रूप में पेश किया है. हाल ही में एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत के दौरान ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर माइक हसी ने विराट कोहली की कप्तानी की तुलना रिकी पोंटिंग की कप्तानी से की और उनके कप्तानी के अंदाज की तारीफ की. हसी ने धोनी के रिटायरमेंट के बारे में भी बातचीत की.

हसी बोंले- कप्तानी के मोर्चे पर कोहली में नजर आता है पोंटिंग वाला ये अंदाज

कोहली की कप्तानी पोंटिंग की दिलाती है याद

हसी ने कहा, “मैंने हमेशा कोहली की कप्तानी का आनंद लिया है. उनमें मैच जीतने की भूख नजर आती है और मैं विराट में रिकी पोंटिंग की कप्तानी की समानताएं देख सकता हूं. पोंटिंग हमेशा सफलता के लिए भूखे रहते थे और हमेशा अपनी टीम को उसे आगे की ओर धकेलते थे. एमएस धोनी बेहतरीन कप्तान थे और विराट के लिए धोनी की जगह भर पाना चुनौती होगी. लेकिन विराट को लेकर अच्छी बात ये है कि वह धोनी के तरीकों का इस्तेमाल नहीं करना चाहते.”

हसी ने कहा कोहली ने अपने अंदाज में टीम इंडिया की अगुआई की है. वह अपने व्यक्तित्व को लेकर हमेशा से सच्चे रहे हैं. पिछले कुछ सालों के दौरान टीम इंडिया बदलाव के दौर से गुजर रही थी.

Best news portal designing company in lucknow

 ये भी देखें: बीच मैच दौरान ये महिला दर्शक NUDE होकर दौड़ने लगी पूरे मैदान में, देखने वालो को भी आ गयी शर्म

लेकिन अब टीम इंडिया बहुत ही संतुलित है. यह भारतीय क्रिकेट के लिए बेहतरीन समय है. खिलाड़ियों को अपने कप्तान पर भरोसा है और हर किसी का नजरिया एक है. जाहिर तौर पर आने वाले समय में चुनौतियां आएंगी. इस दौरान कप्तान ही नहीं बल्कि खिलाड़ियों की भी अग्निपरीक्षा होगी.”

धोनी अपनी शर्तों पर लेंगे संन्यास

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के 2019 विश्व कप तक खेलने की संभावनाओं के बारे मंआ बातचीत करते हुए हसी ने कहा, एमएस अपनी शर्तों पर संन्यास लेने या न लेने के योग्य हैं. अगर उन्हें लगता है कि उन्हें 2019 विश्व कप खेलना है तो उन पर कौन शक कर सकता है. वह बहुत ही विनम्र और ईमानदार व्यक्ति हैं.

अगर वह सोचते हैं कि वह साल 2019 में भारतीय टीम की सफलता में योगदान नहीं दे सकते तो मुझे नहीं लगता कि वह वहां जाएंगे. 36 साल की उम्र में भी वह मेरे हिसाब से सबसे फिट खिलाड़ी हैं. वह अपना गेम जानते हैं और अपने शरीर का बढ़िया ख्याल रख रहे हैं. इसलिए वह जानते हैं कि कब अलविदा कहना है.”

loading...
=>

You may also like

भारत की कविता देवी बनी WWE की पहली WRESTLER, रहा ऐसा PERFORMENCE

कविता देवी ने WWE ( वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेनमेंट)