स्पीडो मीटर की रिकॉर्डिंग से इंदौर-पटना ट्रेन हादसे में हुआ नया खुलासा

इंदौर पटना ट्रेन के पुखराया के पास दुर्घटना ग्रस्त होने में एक नया खुलासा हुआ है। जांच में यह बात सामने आई है कि चालक द्वारा इमरजेंसी ब्रेक लगाने से ट्रेन एक मिनट में 167 मीटर दूर जाकर रुक गई। गति अधिक होने से डिब्बे एक-दूसरे में ही टकरा गए।

पीएम मोदी ने कालेधन को सफेद करने के लिए दिया एक और मौकाindore-patna-express

जांच में जुटे एक अधिकारी ने नईदुनिया को बताया कि मामले की जांच अभी चल रही है, लेकिन अब तक यह बात सामने आई है कि चालक ने सडन एप्लीकेशन ऑफ ब्रेक का इस्तेमाल किया था, जिससे 100 से अधिक की स्पीड में दौड़ रही ट्रेन 167 मीटर की दूर रुक गई। पुराने कोच होने से सभी आपस में भिड़ गए, जिससे इतनी मौत हो गई।

सूत्रों ने बताया कि इंजन में लगे स्पीडो मीटर में रिकॉडिंग की व्यवस्था रहती है। इस मामले में भी हादसे के समय ट्रेन की गति कितनी थी, ब्रेक लगाने से ट्रेन कब रुकी यह सब पता चल गया। अब दूसरे बिंदुओं की जांच की जा रही है। जिसके बाद दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

सामान्य स्थिति में 600 मीटर दूरी रुकती है

सामान्य परिस्थितियों में ब्रेक लगाने पर ट्रेन एक मिनट में 600 मीटर की दूरी पर जाकर रुकती है। इधर, सूत्रों ने बताया कि जांच में अब तक रेलवे को पॉइंट ऑफ मांउट (पहिया ऊपर चढ़ने) और पॉइंट ऑफ ड्राप (पहिया नीचे गिरने) के सबूत नहीं मिले हैं।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button