सुप्रीम कोर्ट ने पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले को दिया ‘सुप्रीम सलाम’

जी हाँ!! सुप्रीम कोर्ट ने पीएम मोदी के 1000 और 500 रूपये के नोटबंदी के फैसले को दिया ‘सुप्रीम सलाम’ | नोटबंदी के ऐतिहासिक फैसले के बाद पीएम मोदी और केंद्र सरकार पर विरोधियों के हमले तेज हो गए हैं। जनता की परेशानी का हवाला देकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा जा रहा है। कोई इस विषय पर चर्चा नहीं कर रहा है कि नोटबंदी से क्या क्या फायदे हो सकते हैं। सरकार के फैसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट तक में याचिका दाखिल की गई। इस पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने नोटबंदी पर रोक लगाने से इंकार कर दिया है। कोर्ट ने साफ साफ कहा है कि वो सरकार की आर्थिक नीतियों में दखल नहीं देगा।

supreme-court

यह भी पढ़ें:- गुपचुप तरीके से रात में हुआ चीन पर सर्जिकल स्ट्राइक

हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने ये कहा है कि सरकार इस बात का ध्यान रखे कि जनता को परेशानी न हो। चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया टीएस ठाकुर ने कहा है कि केंद्र सरकार हलफनामा दाखिल करके उठाए जा रहे कदमों के बारे में जानकारी दे।चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने कहा कि नोटबंदी के बाद सरकार ने क्या कदम उठाए हैं जिस से लोगों को परेशानी न हो। इस पर केंद्र सरकार कोर्ट में हलफनामा दाखिल करे।

यह भी पढ़ें:- ट्रंप और मोदी का भाईचारा देख बौखलाये चीन ने दी अमेरिका को खतरनाक धमकी

सुप्रीम कोर्ट ने 25 नवंबर की तारीख तक जवाब मांगा है। सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से ये भी पूछा है कि पैसे निकालने की सीमा क्यों नहीं बढ़ा रहे हैं। इस से आम जनता को परेशानी हो रही है। बता दें कि 8 नवंबर को पीएम मोदी ने 1000 और 500 के नोट बंदी का एलान किया था। पुराने 500 और 1000 के नोट बदलवाने के लिए समय सीमा तय की गई है। सरकार का मानना है कि इस फैसले से देश में काले धन पर जाली नोटों पर लगाम लगेगी। इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की गई थी।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button