सीआइआरसी ने सभी राज्यों की शाखाओं को अंगदान शपथपत्र भेज दिए, सात जुलाई के बीच शपथ लेने की तैयारी….

जिंदगी में कुछ क्षण बेहद भावुक होते हैं और आजीवन याद रहते हैं। जब व्यक्ति उन्हें पूरा करने में सक्षम हो जाता है तो पहल जरूर करता है। कुछ ऐसी ही पहल दि इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड अकाउंटेट्स ऑफ इंडिया के सेंट्रल रीजनल काउंसिल (सीआइआरसी) ने की है। सीए डे यानी एक जुलाई से सीआइआरसी के कार्यक्षेत्र वाले सात राज्यों के चार्टर्ड अकाउंटेंट बड़ी शपथ लेने जा रहे हैं। इस शपथ से वे चिकित्सा जगत में अहम योगदान देते हुए अपने अंग समर्पित कर देंगे।

Loading...

यादगार बनाएंगे इस बार का सीए डे

 

सीए डे को यादगार बनाने के लिए सीआइआरसी के चेयरमैन मुकेश बंसल ने इसकी पहल की है। इसके लिए सातों राज्यों की शाखाओं में चार्टर्ड अकाउंटेंट की संख्या के अनुसार अंगदान शपथ पत्र भेज दिए गए हैं। चार्टर्ड अकाउंटेंट अपने राज्य की शाखाओं से शपथपत्र लेकर उन्हें भरेंगे। सभी राज्यों के फार्म मुख्यालय में जमा होंगे। 15 जुलाई के आसपास दिल्ली में एक कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्रालय को यह सभी शपथपत्र सौंप दिए जाएंगे।

सात राज्यों में ली जाएगी अंगदान की शपथ

सात राज्यों में सीए अंगदान की शपथ लेंगे। सात जुलाई तक चलने वाले इस अभियान में कुल 50 हजार सीए अंगदान शपथपत्र भरेंगे। सीआइआरसी में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान राज्य शामिल हैं और इसका मुख्यालय कानपुर है। अंगदान का शपथ पत्र भरे जाने के बाद मरणोपरांत उपरांत उनके अंगों को जरूरतमंदों को उपलब्ध करा दिया जाएगा।

पिता और साथियों के निधन ने किया द्रवित

सीआइआरसी के चेयरमैन मुकेश बंसल ने बताया कि किडनी में संक्रमण के कारण वर्ष 1992 में पिता जी का निधन हो गया। कुछ सीए साथियों की भी इसी कारण मौत हो गई। तब केवल सोच पाए थे कि काश पिता जी और अपने सीए साथियों की किडनी बदलवा सकता। आइसीएआइ बड़ा संगठन है और समाज के प्रति हमारा दायित्व भी है। इसलिए सीए डे पर अंगदान अभियान शुरू किया जा रहा है। सभी राज्यों के शाखा प्रमुखों से बात हो गई और वह इस अभियान से सहमत हैं और सभी सीए शपथपत्र भरेंगे।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com