सिद्धू ज्वाइन करेंगे कांग्रेस, बचा एक मात्र अॉप्शन

चंडीगढ़ः नवजोत सिंह सिद्धू की आम आदमी पार्टी से अलायंस की बात एक बार फिर टूट गई है। सिद्धू ने इस अलायंस के लिए आप हाईकमान के सामने जो शर्तें रखीं वे पार्टी नेताओं को मंजूर न होने से बात सिरे नहीं चढ़ सकी। %e0%a4%a8%e0%a4%b5%e0%a4%9c%e0%a5%8b%e0%a4%a4-%e0%a4%b8%e0%a4%bf%e0%a4%82%e0%a4%b9-%e0%a4%b8%e0%a4%bf%e0%a4%a6%e0%a5%8d%e0%a4%a7%e0%a5%82

अब सिद्धू की आप से अलायंस की संभावना पूरी तरह खत्म हो गई है। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने  पुष्टि की है। हालांकि, अभी सिद्धू की कांग्रेस से बातचीत जारी है। अब सिद्धू के सामने कांग्रेस ही विकल्प है। 

आप से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, सिद्धू ने  सितंबर में अाप से संपर्क साधा था जिस दौरान  सी.एम. कैंडिडेट बनाने की मांग की थी, जिसके बाद पार्टी नेताओं और उनके बीच कोई बातचीत नहीं हो पाई है। केजरीवाल ने तब अावाज-ए-पंजाब को साथ अाने का न्योता दिया था क्योंकि नए मोर्चे पंजाब के राजनीतिक परिदृश्य पर कोई महत्वपूर्ण प्रभाव बनाने में नाकाम रहे हैं।  लोगों में  प्रसिद्धि हासिल कर चुके सिद्धू  लोगों में अटकलों का माहौल बना कर रह गए।
सूत्रों के मुताबिक, आम आदमी पार्टी सिद्धू की पत्नी को टिकट देने को तैयार है  लेकिन एक ही परिवार के दो लोग पार्टी के संविधान के हिसाब से चुनाव नहीं लड़ सकते, इसलिए पति-पत्नी दोनों को एक साथ पार्टी टिकट नहीं दे सकती। 

सूत्रों का कहना है कि सिद्धू  एक मामले में गैर-इरादतन हत्या के दोषी हैं और पार्टी के संविधान के हिसाब से दोषी साबित हुआ व्यक्ति चुनाव नहीं लड़ सकता. इसलिए जब पार्टी टिकट ही नहीं दे सकती तो सी.एम. उम्मीदवार कैसे बना सकती है। ऐसी स्थिति में सिद्धू का टिकट कटता दिख रहा है और इसे लेकर ही दोनों के बीच की बातचीत अटक गई है।

पिछले दिनों सिद्धू ने बीजेपी से इस्तीफा दिया था, तभी से ऐसी अटकलें थी वह आम आदमी पार्टी में जुड़ेंगे और पार्टी उन्हें पंजाब चुनाव में बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है। हालांकि दोनों के बीच बातचीत में आई रुकावट के बीच सिद्धू से जुड़े करीबी सूत्रों ने बताया कि वह दूसरे राजनीतिक विकल्पों की ओर भी देख रहे हैं, जिसमें कांग्रेस भी शामिल है।  

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button