सांप जिनके ज़हर से दुनिया की रूह काँपती है

सांप एक ऐसा नाम कि दिन हो या रात सुनते ही पहले हम अगल-बगल देखते हैं फिर आश्वस्त होकर आगे की बात सुनते देखते या पढ़ते हैं। च1442653969753-415x260लिये आज हम इसी सांप की बात करते हैं। दुनिया के टॉप खतरनाक और जानलेवा सापों की। इनमें से ज्यादातर दुनिया के गर्म क्षेत्रों में पाए जाते हैं। संसार में सांपो की 2500 से अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं। जिसमें से 500 के करीब ज़हरीली होती हैं। हमने इन्हीं में से 10 प्रजातियों का चयन किया है। इनमें प्रजातियों का ज़हर बहुत घातक है पर वो इंसानों को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचाते है। जबकि कई प्रजातियों का ज़हर इतना घातक नहीं होता है फिर भी वो इंसानो को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचाते हैं।

Inland-Taipan

फिएर्स स्नेक या इनलैंड ताइपन

फिएर्स स्नेक या इनलैंड ताइपन को दुनिया का सबसे खतरनाक सांप माना जाता है। यह सांप एक बार में 110 एमजी जहर उगलता है, जो 100 लोगों की जान लेने के लिए काफी है। फिएर्स स्नेक या इनलैंड ताइपन के काटने से अबतक सबसे लंबी उम्र 45 मिनट की रही है। इनलैंड ताइपन जमीन पर पाये जाने वाले सांपो में सबसे ज़हरीला है। इसका ज़हर रैटल स्नेक की तुलना में 10 गुना और कोबरा की तुलना में 50 गुना ज्यादा घातक होता है। यह सांप आबादी से दूर रहना पसंद करता है इसलिए इंसानों से इनका आमना सामना बहुत कम होता है। यदि कभी इंसान से सामना हो भी जाए तो ये सांप वहाँ से बच निकलने की कोशिश करते हैं।

eastern-snake

ईस्टर्न ब्रॉइन स्नेक

ईस्टर्न ब्रॉइन स्नेक का जहर बेहद खतरनाक और जानलेवा होता है। इसके ज़हर का 14,000 वां हिस्सा ही किसी इंसान को खत्म करने के लिए काफी है। ये सांप अधिकतर ऑस्ट्रेलिया में पाए जाते हैं। इन सापों की खासियत होती है कि ये अपने शिकार का तेजी से पीछा करते हैं और उन्‍हें मार देते हैं। इनसे बचने का सबसे अच्‍छा तरीका है कि अगर आप इनके सामने पड़ जाएं तो सांस रोककर खड़े हो जाएं। ये सांप इंसानी इलाकों के पास ज्यादा पाए जाते हैं। इस सांप का एक छोटा सा बच्चा भी किसी इंसान को मौत के घाट उतार सकता है।

Taipan-snake

ताइपन स्‍नेक  

ताइपन ऑस्ट्रेलिया में पाया जाने वाला दूसरा सबसे खतरनाक सांप है। ताइपन के काटने के बाद किसी के बचने का चांस न के बराबर होता है। ताइपन के काटने से महज कुछ ही देर में किसी की भी मौत हो जाती है। इसका ज़हर न्यूरो टॉक्सिक होता है। अफ्रीकन ब्लैक माम्बा की तरह एंटी वेनीन बनने से पूर्व इसका काटा कोई भी इंसान बच नहीं पाता था। इसके काटने के एक घंटे के अंदर इंसान की मौत हो जाती है।

blue-snake

नीला करैत स्‍नेक (ब्लू करैत)

ब्लू करैत की गिनती भी दुनिया के सबसे जहरीले सांपों में की जाती है। ज्‍यादातर ये सांप इंडोनेशिया में पाए जाते हैं। ब्लू करैत के काटने से शरीर तुरंत काला पड़ जाता है। ये सांप दूसरे सांपो का शिकार करके खाता है। ये इंसानी बस्तियों से दूर रहते हैं और उलझना पसंद नहीं करते। लेकिन एक बार यदि इन्हें अंदेशा हो जाए कि बिना उलझे काम नहीं चलेगा तो फिर ये छोड़ते भी नहीं। इनका ज़हर भी न्यूरो टॉक्सिक होता है।

black-mamba

ब्लैक मांबा स्‍नेक

ब्लैक माम्बा तक़रीबन पूरे अफ्रीका में पाया जाता है। ये बेहद गुस्सैल सांप होते हैं। ब्लैक मांबा सबसे तेजी से चलने वाले सांपों में से एक है। जो एक घंटे में 20 किमी की दूरी तय कर सकता है। यह एक साथ 12 बार डसने में सक्षम है, जो 12-25 लोगों की जान भी ले सकता है। अफ्रीका में सांप के काटने से होने वाली सबसे ज्यादा मौतों के लिए यही प्रजाति ज़िम्मेदार है। बलैक मांबा का सिर्फ 1 मिलीग्राम ज़हर ही इंसान को खत्म करने के लिए काफी है। मांबा के काटते ही आदमी की आंखों के आगे अंधेरा छा जाता है, शरीर के जिस हिस्से पर उसने काटा है वहां तेज़ दर्द होता है। काटने के 15 मिनिट से लेकर 3 घण्टे के अंदर इंसान की मौत हो जाती है। एंटी वेनीन बनने से पहले इसका काटा कोई भी इंसान बच नहीं सकता था।

tiger-snake

टाइगर स्नेक

ये ऑस्ट्रेलिया में पाया जाने वाला सांप है। टाइगर स्नेक के काटने से महज 30 मिनट में मौत हो सकती है। ये सांप पैरों पर या गरदन पर काटता है। इसके अंदर बहुत पावरफुल न्यूरो टॉक्सिक ज़हर होता है। एंटी वेनीन बनने से पूर्व इसके काटने से मरने वाले इंसानों का प्रतिशत 70 था। इसके बावजूद भी यह इंसानों के लिए ज्यादा खतरनाक नहीं है क्योकि इंसानों से मुठभेड़ होने पर यह भाग जाता है। यह तब ही काटता है जब यह किसी कोने में हो और भागने की कोई जगह न हो।

philipini-cobra

फिलीपिनी कोबरा

कोबरा की सभी प्रजाति ज्‍यादा जहरीली नहीं होतीं। इसलिए फिलीपिनी कोबरा को इस लिस्ट में शामिल किया गया है। ये 3 मीटर तक लंबे होते हैं। इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है की यह शिकार को डसने की बजाय उसपर दूर से ज़हर थूकता है। इसका ज़हर न्यूरो टॉक्सिक होता है जो की सीधे श्वसन और हृदय तंत्र पर असर दिखाता है। ज़हर तत्काल अपना असर दिखाना शुरू कर देता है। सांस लेना बेहद मुश्किल हो जाता है जिससे हार्टअटैक पड़ जाता है।

viper-snake

काला नाग स्‍नेक (वाइपर)

काले नाग की बहुत सी प्रजाति होती हैं और ये पूरी दुनिया में पाए जाते हैं। काले नाग के काटने से ब्लड प्रेशर कम हो जाता है और दिल की धड़कनें रुक जाती हैं। यही सांप भारत में सांपों के काटने से होने वाली सबसे ज्यादा मौतों के लिए ज़िम्मेदार है। काले नाग के काटने के आधे घंटे के भीतर इंसान खत्म हो जाता है।

death addar

डेथ एड्डर स्‍नेक

ये सांप ऑस्ट्रेलिया और न्यू गिनी में पाया जाता है। डेथ एड्डर दूसरे सांपों को घात लगाकर मारता है, फिर खा जाता है। यह एक बार में 100 mg तक ज़हर शिकार के शरीर में छोड़ सकता है। जिसकी वजह से डेथ एड्डर दुनिया के सबसे खतरनाक सांपों में से एक माने जाते हैं। इसकी एक और विशेषता जो की इसको घातक बनाती है वो है 13 sec के अंदर दोबारा वार करने की क्षमता।

sea-snake

समुद्री स्‍नेक

सी स्नेक ज्‍यादातर साउथ ईस्ट एशिया और नॉर्थन ऑस्ट्रेलिया में पाया जाता है। ये सांप समुद्र का सबसे ज़हरीला सांप है। इसके ज़हर की कुछ मिलीग्राम बूँदें ही 1000 इंसानों की मौत के लिए काफी है। सबसे अच्‍छी बात इनमें यह है कि ये सांप समुद्र में पाये जाते हैं इसलिए ये इंसानों के लिए इतना खतरनाक नहीं है। केवल मछुआरे ही मछली पकड़ते वक़्त कभी कभार इसका शिकार होते है। वैसे तो ये आमतौर पर इंसानो को काटने से बचता है बहुत ही रेयर केस में ही यह इंसान को काटता है।

 

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button