सम्मानित हुए हिंदी की सेवा करने वाले साहित्यकार

लखनऊ। हिन्दी दिवस के मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने वरिष्ठ कथाकार काशीनाथ सिंह को ‘भारत-भारती सम्मान’ और  डॉ ओम प्रकाश मिश्र को ‘विद्या भूषण सम्मान’ से अलंकृत किया। शोध एवं अनुसन्धान के प्रIMG-20150914-WA0037-3-300x168ति समर्पित मानविकी विषयों में उत्कृष्ट लेखन के लिए डॉ ओम प्रकाश मिश्र को यह सम्मान दिया गया।

उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान की ओर से यशपाल सभागार में सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें संस्थान की ओर घोषित 113 साहित्य शिल्पियों को पुरस्कृत किया गया। यह पुरस्कार वर्ष 2014 में प्रकाशित पुस्तकों पर प्रदान किए गए।

  • संस्थान का सर्वोच्च ‘भारत-भारती सम्मान’ मशहूर कथाकार काशीनाथ सिंह को दिया गया। भारत भारती सम्मान स्वरूप चयनित साहित्यकार को पांच लाख रुपए की धनराशि प्रदान की गयी।
  • वहीं ‘लोहिया साहित्य सम्मान’ दिल्ली की मृदुला गर्ग को दिया गया । भारत-भारती और लोहिया साहित्य के सम्मान के साथ ही पुरस्कारों के क्रम में चार लाख रुपए धनराशि के पुरस्कार के तहत विनोद कुमार शुक्ल को  ‘हिन्दी गौरव सम्मान’, डॉ. कृष्ण बिहारी मिश्र को ‘महात्मा गांधी सम्मान’, प्रो. अभिराज राजेंद्र मिश्र को ‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय साहित्य सम्मान’ और कर्नाटक हिन्दी प्रचारक समिति को ‘राजश्री पुरुषोत्तम दास टंडन सम्मान’ से नवाजा गया
  • इसी तरह, दो लाख रुपए धनराशि के पुरस्कार की श्रृंखला में  लखनऊ के ओम प्रकाश मिश्र को शोध एवं अनुसन्धान के प्रति समर्पित मानविकी विषयों में उत्कृष्ट लेखन के लिए  ‘विद्या भूषण सम्मान’ , प्रताप दीक्षित, डॉ. पुष्पा भारती, राजकृष्ण मिश्र, डॉ. रामकठिन सिंह, डॉ. रंगनाथ मिश्र, डॉ. रमा सिंह, कमल नयन पाण्डेय, मोहन दास नैमिशराय, बलराम और उमाशंकर सिंह यादव को ‘साहित्य भूषण सम्मान’ से अलंकृत किया गया।
  • संस्थान की ओर से वर्ष 2014 में प्रकाशित पुस्तकों पर नामित पुरस्कार 50 हजार रुपए की धनराशि के साथ 28 पुस्तकों के लिए दिए गए हैं। इसके अलावा पुस्तकों के लिए ‘सर्जना पुरस्कार’ 20 हजार रुपए के लिए 30 पुस्तकों पर भी दिया गया

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button