सपा-कांग्रेस पर PM का जोरदार हमला, कहा-कितने भी गठबंधन कर लो पाप धुलने वाले नहीं

समाजवादी पार्टी (सपा) पर लोकनायक जयप्रकाश नारायण और राम मनोहर लोहिया को अपमानित किये जाने का आरोप लगाते हुये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि सपा, कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की ओछी राजनीति ने उत्तर प्रदेश का बेड़ा गर्क कर दिया है। उन्होंने कहा कि सपा-कांग्रेस कितना भी गठबंधन कर ले उनके पाप धुलने वाले नहीं हैं। 

बहन ने कहा, छोड़ दो मुझे मैं प्रेग्नेंट हो जाऊंगी, भाई ने कहा- टेंशन मत लोबाथरूम में नहा रही लड़की का वीडियो बनाया, कहा-एक बार में क्या हो जाएगा

सपा ने लोहिया और जयप्रकाश नारायण को किया अपमानित 
मोदी ने लखीमपुर खीरी के जीआईसी मैदान पर आयोजित परिवर्तन संकल्प रैली को संबोधित करते हुये कहा कि कांग्रेस के साथ गठबंधन कर सपा ने लोहिया और जयप्रकाश नारायण को अपमानित किया। जेपी ने आपातकाल के दौरान तत्कालीन इंदिरा गांधी सरकार की जोरदार खिलाफत की। राममनोहर लोहिया भी कांग्रेस की मुखालफत करते रहे।

सत्ता की खातिर कांग्रेस की गोद में बैठे अखिलेश 
उन्होंने कहा, ‘राज्य विधानसभा के चुनाव में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव सिर्फ सत्ता की खातिर कांग्रेस की गोद में बैठ गये हैं। लोहिया और जेपी के आदर्शो को अपनाने का ढोल पीटने वाली सपा को सूबे की जनता कभी माफ नहीं करेगी।’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘राज्य विधानसभा का यह चुनाव उत्तर प्रदेश के साथ साथ देश के लिये बहुत अहम और ऐतिहासिक है। आपने कई बार कांग्रेस का शासन देखा है। कांग्रेस के शासनकाल में देश को जहां पहुंचना चाहिये था वहां नही पहुंचा। कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) ने उत्तर प्रदेश का भला नही किया। सपा बसपा और कांग्रेस की सरकारें हर परीक्षा में फेल हुयी।’ 

बसपा को हो गया था सूपड़ा साफ
सपा पर निशाना साधते हुये मोदी ने कहा कि लोकसभा चुनाव को बीते अभी ज्यादा समय नहीं हुआ है। 2014 में हुये इस चुनाव में बसपा का सूपड़ा साफ हो गया था। दो कुनबों के कुछ लोग जीत कर आये थे। सारी कोशिश कुनबो को बचाने में लगा दी थी। सूबे की जनता ने कांग्रेस को उसके किये की सजा दी। सपा के सपने चूर चूर हो गये और प्रदेश की जनता ने भाजपा को तहेदिल से अपना समर्थन दिया।

2014 में ही बज चुकी है अखिलेश के लिए खतरे की घंटी 
मोदी ने कहा ‘दरअसल, 2014 में ही अखिलेश के लिये खतरे की घंटी बज गयी थी। 2014 में परिवार का झगड़ा नहीं था लेकिन सपा साफ हुयी। मौजूदा चुनाव में भाजपा के डर से और कुर्सी के मोह में अखिलेश कांग्रेस की गोद में बैठ गये हैं। चाहे जितने गठबंधन कर लें,उनके पाप धुलने वाले नही है।’ उन्होने कहा ‘आपातकाल के बाद इंदिराजी ने 20 मुद्दे निकाले थे। 20 मुद्दों के बावजूद कांग्रेस हार गयी थी। इस चुनाव में सपा कांग्रेस ने 10 मुद्दे निकाले। वह भी हार रही है।’ सपा सरकार की नीतियों को आड़े हाथ लेते हुये मोदी ने कहा कि लखनऊ मेट्रो के लिये केन्द्र सरकार ने पैसे दिये थे मगर अखिलेश सरकार ने उद्घाटन अवसर पर केन्द्र के मंत्री और सांसदों को नहीं बुलाया था। चुनाव पास आता देख मुख्यमंत्री अखिलेश ने हड़बड़ी में उद्घाटन कर दिया मगर न स्टेशन बने और न मेट्रो चली। 

यूपी में हर दिन हो रहीं 17 हत्यायें व 20 बलात्कार 
मोदी ने कटाक्ष किया ‘मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने हड़बड़ाहट में में दाता अस्पताल का भी उद्घाटन किया। अस्पताल में न डॉक्टर न मरीज सिर्फ फीता काट दिया। खाली फीता काटने से काम नहीं बोलता।’ सूबे की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाते हुये प्रधानमंत्री ने कहा ‘सूबे में मातायें बहनें चेन पहनने से डरती हैं। प्रदेश में हर दिन औसतन 20 बलात्कार होते हैं और 17 हत्यायें होती है। हर हत्या के पीछे राजनीति के संरक्षण की बू आती है। पूरा उत्तर प्रदेश जानता है कि जेलों में बंद अपराधियों के इशारे पर आपराधिक वारदातों को अंजाम दिया जाता है। इसे काम कहेंगे या कारनामा।’

बीजेपी सरकार बनी तो 6 माह में जेल में होंगे अपराधी
उन्होंने कहा, ‘आप हमें एक बार सेवा के अवसर दीजिये, कट्टे वाले हों, बलात्कारी हो, चाकू छूरी वाले हों। छह माह के भीतर जेल में होंगे। माताओ बहनों दिल्ली में आपका ऐसा भाई बैठा है जो यहां का माहौल सही कर सकता है।’ मोदी ने कहा कि मेहनतकश युवाओं का सूबा होने के बावजूद यहां के नौजवानों को काम की तलाश में अन्य राज्यों का रुख करना पड़ता है जो बेहद शर्मनाक है। सपा बसपा कांग्रेस की राजनीति ने उत्तर प्रदेश को तबाह कर दिया। उन्होंने कहा कि लखीमपुर उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा जिला है। चीनी का कटोरा कहा जाता है मगर अखिलेश सरकार की नीतियों ने सबसे ज्यादा गन्ना किसाना का हक छीना। भाजपा सरकार बनने पर 14 दिन में गन्ना मूल्य का भुुगतान होगा। छोटे किसानों का कर्ज माफ कर दिया जायेगा। 

सरकार बनने पर पहला काम किसानों का कर्ज माफ होगा
मोदी ने कहा, ‘यूपी वालों ने मुझे सांसद प्रधानमंत्री भी बनाया। यूपी में सरकार बनने पर पहला काम किसानों का कर्ज माफ होगा। किसानों का कर्ज माफ कराना मेरी जिम्मेदारी है। मायावती सरकार में चीनी मिल नीलाम हुयी। चीनी मिलों की नीलामी को लेकर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे। चीनी मिलों की नीलामी और घोटालों की जांच हुयी। घोटाला दबाने में क्या मिला। अखिलेश जनता को बताये।’ 

अखिलेश सरकार किसान विरोधी
उन्होंने दावा किया कि अखिलेश सरकार किसान विरोधी है। उत्तर प्रदेश सरकार ने गन्ना किसानों का बोझ फसल बीमा में डाला। केन्द्र में उनकी सरकार जैसी फसल बीमा योजना लायी वैसी 30 साल में नही आयी। अगर किसान बुवाअी नही कर पाया फिर भी काम मिलेगा। जलभराव से भी खेती को हुये नुकसान की भरपाई बीमा से होगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि यूरिया समस्या के लिये पहले मुयमंत्रियों की चि_ी आती थी। यूरिया के लिये किसानो को लाइन लगानी पडती थी फिर भी समय से खाद उपलब्ध नहीं होती थी। उनकी सरकार ने यूरिया की कालाबाजारी रोकने का काम किया। यूरिया बिक्री में भाई भतीजावाद को खत्म किया। राजनेता भी यूरिया में भ्रष्टाचार करते थे। मुख्यमंत्री को हमारा काम नहीं दिखेगा मगर उनको तो सिर्फ कारनामे याद रहते हैं। 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button