शाह ने कहा-अब कोई सिर काटकर नहीं ले जा सकता, पर राहुल बाबा आप नहीं समझोगे

amit-shah-begusaray1_1443 (1)पटना. बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह ने कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी पर बुधवार को निशाना साधा। शाह ने आतंकियों के खिलाफ म्यांमार की बॉर्डर के अंदर हुए आर्मी ऑपरेशन का हवाला दिया। शाह ने कहा- भाजपा तो बनी ही देश की सुरक्षा के लिए है। यह आप नहीं समझोगे राहुल बाबा, क्योंकि आपका देखने का नजरिया आपके ननिहाल का है।
 
शाह ने क्या कहा?
 
शाह बिहार के बेगूसराय में बीजेपी कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में बोल रहे थे। उन्होंने कहा- ‘राहुल बाबा! हमारे शासन में सिर काटकर ले जाने का साहस किसी में नहीं है। अगर किसी ने कोशिश भी की तो बर्मा के बॉर्डर के अंदर जाकर हमारी सेना ठोंककर आती है। ये नरेंद्र मोदी की सरकार है। आपको मालूम नहीं पड़ेगा कि देश की सुरक्षा कैसे की जाती है? भाजपा तो बनी ही देश की और देश के बॉर्डर की सुरक्षा के लिए है। आपको मालूम नहीं पड़ेगा राहुल बाबा, क्योंकि आपका देखने का नजरिया आपके ननिहाल का है। इसलिए आपको मालूम नहीं पड़ेगा।’
 
‘शुरुआत पाकिस्तान करता है, अंत हमारे फौजी करते हैं’
 
अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी आजकल जहां भी जाते हैं एक सवाल पूछते हैं कि नरेंद्र मोदी के राज में क्या देश की सीमाएं सुरक्षित हैं? राहुल बेगूसराय भी आने वाले हैं, वे यहां भी यह सवाल पूछ सकते हैं। उनके पूछने से पहले ही मैं उत्तर दे देता हूं। राहुल बाबा जब देश में आपकी पार्टी का राज था तब सीमा पर गोलीबारी की शुरुआत पाकिस्तान करता था और अंत भी पाकिस्तान ही करता था। आज मोदी राज में भले ही सीमा पर पाकिस्तानी गोलीबारी की शुरुआत करते हैं, लेकिन अंत भारतीय सैनिक करते हैं।
 
‘शाह ने उठाया जंगल राज का मुद्दा’
अमित शाह ने कहा कि लालू को लोग ‘चारा चोर’ के नाम से जानते हैं। लालू राज में जंगल राज का माहौल था। हर तरफ हत्या, लूट और बलात्कार के मामले इतने अधिक हो रहे थे कि अखबारों ने छापना छोड़ दिया था। अमित शाह ने कहा कि लालू आरक्षण के मुद्दे पर झूठ फैला रहे हैं। भाजपा रिजर्वेशन के हक में है। असल में नीतीश और लालू विकास को मुद्दा नहीं मानते।
 
‘सत्ता के लिए नीतीश ने भाजपा के साथ किया धोखा’
 
शाह ने कहा कि नीतीश कुमार ने जंगल राज के खिलाफ आवाज उठाई थी। हमने नीतीश का साथ दिया और लालू के राज को खत्म करने का काम किया। आज नीतीश सत्ता के लालच में लालू यादव के साथ मिल गए हैं। सत्ता के लिए नीतीश ने भाजपा को धोखा दिया है। बिहार की जनता उन्हें इसके लिए माफ नहीं करेगी। नीतीश ने बीजेपी की पीठ में खंजर मारा है। उन्होंने बिहार की जनता के साथ दगा किया है। इस चुनाव में उन्हें इसका फल भोगना होगा। नीतीश लालू और कांग्रेस के साथ मिलकर विकास की बात करते हैं। आप मुझे बताइए कि अपराध और भ्रष्टाचार के साथ विकास हो सकता है क्या? अगर आपको विकास चाहिए तो भाजपा को चुनें। भाजपा की सरकार ही बिहार के लोगों को विकास दे सकती है। जहां भी भाजपा की सरकार बनी है वहां विकास हुआ है।
 
भाजपा सरकार करेगी बिहार का विकास
 
नीतीश ने सत्ता के लिए जीतन राम मांझी को भी धोखा दिया, आज मांझी भाजपा के साथ हैं। जिस जॉर्ज फर्नांडिस के चलते नीतीश नेता बने, उन्हें किनारा कर दिया गया। नीतीश लालू और कांग्रेस के साथ खड़े होकर गरीबी और विकास की बात करते हैं। कांग्रेस ने देश पर 60 साल तक राज किया तो गरीबी के लिए कौन जिम्मेदार है। अमित शाह ने कहा कि बिहार का चुनाव देश को दिशा देने वाला है। इस बार सभी सेक्युलर पार्टियां मुकाबले के लिए खड़ी हैं। हमें इनसे लोहा लेना है और दो-तिहाई बहुमत से भाजपा और एनडीए का सरकार बनानी है। उन्होंने कहा, ‘सबके मन में चुनाव लड़ने की इच्छा होती है। मैंने उन्हें समझाया है कि यह समय नाराज होने का नहीं, बल्कि बिहार में भाजपा सरकार लाने का है। कार्यकर्ता से बड़ी पार्टी होती है। अगर पार्टी रहेगी तो कार्यकर्ताओं को आगे फिर मौका मिलेगा।’
 
बिहार में नेताओं ने बुधवार को और क्या दिए बयान?
 
1. पप्पू यादव ने कहा-कुत्तों को भी पढ़ाने के लायक नहीं हैं बिहार के टीचर
जन अधिकार पार्टी के प्रेसिडेंट और मधेपुरा से एमपी राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। पप्पू ने बुधवार को कहा कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों में तैनात टीचर कुत्तों को भी पढ़ाने के लायक नहीं हैं, वे स्टूडेंट को क्या पढ़ाएंगे? पप्पू यादव ने समस्तीपुर के वारिसनगर विधान सभा के किसनपुर में एक चुनावी रैली में बोल रहे थे। पप्पू यादव ने कहा कि राज्य के 4.2% स्कूल में टीचर नहीं है। यदि टीचर है तो वे टीचर इंसान को पढ़ाने के लायक भी नहीं है। 
 
2. केस दर्ज होने के बाद भी नहीं माने लालू, भाषण में फिर किया जाति का जिक्र
पिछले दिनों बिहार के राघोपुर में एक इलेक्शन रैली में जाति का जिक्र कर चुनाव आदर्श आचार संहिता (model code of conduct) के केस में फंसे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद बुधवार को भी नहीं माने। उन्होंने जमुई में एक भाषण के दौरान फिर जाति के आधार पर वोट मांगे। लालू ने बीजेपी को राक्षसी सेना भी बताया। लालू ने जमुई में दिए भाषण में कहा, “कुर्मी का बेटा और यादव का बेटा एक हो गया है तो लोग जंगलराज कह रहे हैं। यह जंगलराज नहीं मंडल राज-टू है।” 
 

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button