शादी के शुरुआती दिनों में आती हैं ये दिक्कतें!

- in जीवनशैली

शादी के शुरुआती दिनों में आपने लोगों को कहते हुए सुना होगा कि, ‘शादी का पहला साल बहुत दिक्कत भरा होता है.’ कई लोग इसे हनीमून पीरियड कहते हैं तो कुछ के लिए ये नए साथी के साथ सामंजस्य बिठाने का समय होता है. आइए जानते हैं कि शादी के पहले साल लोगों को किस तरह की दिक्कतें आती हैं…शादी के शुरुआती दिनों में आती हैं ये दिक्कतें!

शादी के बाद लड़की जब अपने पति के घर आती है तो उसके लिए सबकुछ नया होता है. वहीं लड़के के घर में भी एक नए सदस्य का आगमन होता है. हर इंसान की परवरिश अलग होती है और स्वभाव भी अलग होता है. ऐसे में नए घर के तौर-तरीकों के साथ ताल-मेल बिठाने में थोड़ा वक्त लगता है.

शादी के पहले लड़की और लड़के के मन में तरह-तरह की जिज्ञासाएं और आशाएं होती हैं. समय के साथ जब हकीकत से पाला पड़ता है तो समझ आता है कि शादी के साथ एक जिम्मेदारी भी आती है. शादी के पहले साल में आपके कई सुनहरे ख्वाब टूटते हैं तो कई उससे भी प्यारी यादें आपके जीवन का हिस्सा बनती हैं.

शादी के पहले साल आपकी लाइफस्टाइल पर बहुत फर्क पड़ता है. अब आपके बेफिक्रेपन का हर्जाना आपके साथी को भरना पड़ सकता है. आपकी मस्तमौला जीवनशैली पर लगाम लग जाती है और कोई भी काम करने से पहले आप अपने साथी की राय लेने लगते हैं. 

शादी के बाद कामकाजी महिलाओं को कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. अगर आपके पति के माता-पिता चाहते हैं कि आप घर के सारे काम भी करें और ऑफिस भी मैनेज करें तो आपका जीवन बहुत व्यस्त और मुश्किल हो जाता है. 

शादी के पहले साल तक आप कई तरह से जज किया जाता है. आपको पति के घर वालों के सामने अच्छा बनना पड़ता है तो ऑफिस में ये भी दिखाना पड़ता है कि आपकी शादी का आपके काम पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है. मामूली गलती पर भी ‘शादी के बाद मन नहीं लग रहा’ जैसे ओछे कमेंट सुनने को मिल सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

किन्नर को भूल से भी कभी नहीं देना चाहिए ये एक चीजें, वरना हो जाओगे बर्बाद

शास्त्रों की अगर मानें तो किन्नर कि दुआ