वैलेंटाइंस डे पर इस्लामिक कानून का खौफ, सऊदी महिलाएं इस तरीके से कर रही प्यार का इजहार

14 फरवरी को वैलेंटाइंस डे है. दुनिया भर में युवा अपने प्रेम का इजहार करेंगे लेकिन सऊदी अरब में प्यार के सार्वजनिक प्रदर्शन पर बंदिशें हैं. यहां प्यार का खुलेआम इजहार करना नियमों के खिलाफ है . दरअसल, सऊदी अरब में इस्लामिक कानून लागू है. इसके चलते आप अगर खुलेआम प्रेम का इजहार करते दिखाई दिए तो आपको जेल या बेहद कड़ी सजा हो सकती है. लेकिन यहां समाज में एक बड़ा बदलाव नजर आ रहा है. 

Loading...

सऊदी अरब की युवा महिलाएं चुपचाप विभिन्न तरीकों से अपने लिए प्यार खोज रही हैं. इसके लिए वे सोशल मीडिया एप्स का सहारा ले रही हैं. कोई ट्विटर (Twitter) के जरिए प्यार खोज रहा है तो कोई स्नैपचैट से. लड़के कार के शीशों पर अपने नंबर चिपका रहे हैं ताकि अगर किसी महिला को उनमें दिलचस्पी हो तो  वे उन्हें कॉल कर सकें. इस बहाने वे वैलेंटाइंस डे सेलीब्रेट कर लेंगे. 

लड़कियां भी यहां सोशल मीडिया के जरिए अपना वैलेंटाइन खोज रही हैं. यहां बता दें कि सऊदी अरब में शादी से पहले शारीरिक या अन्य प्रकार का रिलेशनशिप मना है. अगर ऐसा होता है तो प्रेमी जोड़े को मौत तक की सजा हो सकती है. 

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस से बचने के लिए अब इस जानवर को खा रहे है चीनी लोग, कहीं खड़ी ना हो जाए नई मुसीबत

अब सऊदी अरब में चोरी-चुपके लड़के-लड़कियां अपने प्यार का इजहार कर रही हैं. अपने लिए साथी खोज रहे हैं. इसमें महिलाएं भी अच्छी तादाद में शामिल हैं. एक युवा सऊदी फिल्ममेकर ने बताया कि सऊदी में खुलेआम लाल गुलाब बेचना ड्रग्स बेचने के बराबर है. 27 साल की समाइरा कहती हैं कि उन्हें उस समय बहुत बुरा लगा जब उन्होंने अपने ब्वॉयफ्रेंड को एक हाथ से बनाया कार्ड दिया और उनकी मां ने उनसे कई सवाल पूछ लिए. 

समाइरा ने बताया कि उनके ब्वॉयफ्रेंड ने अपनी मां को समझा दिया लेकिन कपल के मन में ये सवाल घर कर गया कि अब उनके रिश्ते का क्या होगा क्योंकि दोनों को डेटिंग करते हुए एक महीने ही हुए थे.  सऊदी अरब के राजकुमार मोहम्मद बिल सलमान से हाल ही में सोशल मीडिया को लेकर कुछ छूट दी थी. हालांकि उनके इस निर्णय को लेकर सऊदी अरब के उलेमाओं ने विरोध जताया था. इसके बाद से सऊदी अरब के युवाओं को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपने लिए प्यार खोजना आसान हो गया.  सोशल मीडिया के आने के बाद से कई डेटिंग ऐप आ गए. लोग इनके जरिए एकदूसरे मिल रहे हैं.

सामाजिक उत्थान के लिए काम करने वालीं नूर ने बताया कि सऊदी अरब के युवा पुरानी और नई नीतियों को लेकर अभी दुविधा में हैं. लेकिन युवा महिलाओं ने तेजी से अपने फैसले लेने शुरू किए हैं. महिलाएं खुद ही प्रेमी खोज रही हैं. 

नूर बताती हैं कि डेट पर जाने का मतलब ये तो नहीं है कि आप खराब चरित्र की हैं. शादी से पहले किसी तरह के संबंध बनाए रखने पर सऊदी अरब में कड़ी सजा है. साथ ही ब्लैकमेल होने का भी खतरा रहता है. इसलिए डेटिंग को लेकर युवा महिलाओं के मन में दुविधा है लेकिन ये अपने लिए प्रेमी खोज रहीं हैं. 

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *