वीडियो: बेहद अश्लील थे मुगल, असलियत जानकर उड़ जाएगे होश

मुगलकाल मध्कालीन भारतीय इतिहास का एक महत्त्वपूर्ण समयकाल था. लेकिन मुगलकालीन इतिहास को एकपक्षीय रूप से जिस प्रकार इतिहासकारों ने महिमा मंडित किया है वास्तव में असलियत इससे कोसों दूर थी.

जहाँ कुछ इतिहासकारों के अनुसार मुगल अच्छे और कलाप्रेमी शासक हुआ करते थे वहीं कई इतिहासकारों ने निष्पक्ष रूप से भी मुगल काल का अपनी किताबों में वर्णन किया है जिनके अनुसार मुगल एक अय्याश और बर्बर शासक से ज्यादा कुछ नहीं थे.

धर्मग्रंथो और संस्कारों में स्त्री को शक्ति का रूप माना जाता था और उसका सम्मान किया जाता था. और इस बात की पुष्टि तमाम ग्रन्थ और साहित्य भी करते हैं. लेकिन यह भी सत्य है कि, लंबे समय से महिलाओं को भोग की वास्तु समझा जाता था.

मुग़ल शासन काल एक ऐसा शासन काल था जहाँ से पूरे भारत की तस्वीर बदल गई इस काल में तमाम ऐतिहासिक काम हुए लेकिन इस काल में भी महिलाओं को वो जगह नहीं मिल पाई जिसकी वे वास्तविक हकदार थीं. इस काल में महिलाओं पूर्णतया भोग विलास की वस्तु समझा गया.

तो इतना खर्च होता है 2000 रूपये के 1 नोट को छापने में, जानकर नहीं करेंगे यकीन..

मुग़ल काल में शारीरिक संबंधो की तमाम ऐसी अश्लील एवं कामोत्तेजक पेंटिग्स एवं तस्वीरें हैं जो उस समय की स्थिति को बयां करती हैं. इस काल के शासक काम वासना में लिप्त रहते थे और अपनी अन्य स्त्रियों के सामने आपनी रानी से सम्बन्ध बनाते थे.

इस हरम में बड़े पैमाने पर वो औरतें होती थीं जिन्हें मुगल जबरदस्ती उठाकर लाते थे और उन्हें सेक्स गुलाम के रूप में रखा जाता था.

ऐसे शासकों को जिनके पास हरम जैसी चीजें हों और बंधक बनाकर रखे गये हजारों सेक्स गुलाम हों उन्हें प्रेम की मिसाल और कलाप्रेमी शासक कतई नहीं बताया जा सकता है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button