वास्तुटिप्स: घर में लगी इन तस्वीरों से हमेशा बढ़ती है गरीबी और अशांति

- in धर्म

तस्वीर या चित्र लगाने से घर या कार्यालय सुंदर दिखता है, लेकिन बहुत कम लोग ही इस बात को जानते हैं कि घर अथवा कार्यालय में लगे चित्रों का प्रभाव वहां रहने वाले लोगों के जीवन पर भी पड़ता है। वास्तुविद बताते हैं कि घर में शृंगार, हास्य व शांत रस उत्पन्न करने वाली तस्वीरें ही लगाई जानी चाहिए। घर या कार्यालय के अंदर और बाहर सुंदर चित्र, पेंटिंग, बेल-बूटे, नक्काशी लगाने से न सिर्फ सुंदरता बढ़ती है, बल्कि वास्तु दोष भी दूर होते हैं। वास्तुटिप्स: घर में लगी इन तस्वीरों से हमेशा बढ़ती है गरीबी और अशांति

धारदार चीजें, जैसे-ब्लेड, तलवार, कैंची, चाकू आदि शक्ति और हिंसा का प्रतीक मानी जाती हैं। इनका प्रदर्शन या घर, कार्यालय में इनकी तस्वीर लगाने से वहां की सकारात्मक ऊर्जा नष्ट होने लगती है। इनका प्रदर्शन हिंसा को बढ़ावा देता है। धारदार या नुकीली चीजें दान में या उपहार में भी नहीं देनी चाहिए, इनसे आपके घर के साथ-साथ उसके घर में भी नकरात्मक ऊर्जा का संचार होने लगता है और आप आर्थिक परेशानियों से घिर जाते हैं। कुछ लोग पर्स में पैसे के साथ-साथ नुकीली चीजें, जैसे- ब्लेड, चाकू या उनकी आकर्षक तस्वीर को रख लेते हैं, जो उनके मार्ग में बाधा उत्पन्न कर सकती हैं।

वास्तु शास्त्र के मुताबिक, धारदार चीजों के प्रभाव नकारात्मक होते हैं, क्योंकि ये चीजें हिंसा के समय उपयोग की जाती हैं अथवा किसी चीज को काटने के समय। यदि इस प्रकार की चीजों के चित्र घर या कार्यालय में लगाए गए हैं, तो उस जगह से सकारात्मक ऊर्जा नकारात्मक ऊर्जा में बदल जाती है। इससे अच्छे संबंधों में खटास, व्यवसाय में हानि, नौकरी में बाधा और धन की कमी आदि समस्याएं उत्पन्न होने लगती है। वैसे इन चीजों को प्रत्यक्ष रूप से घर पर सकारात्मक कार्यों को करने के लिए रखा जाता है, इसलिए युद्ध प्रसंग, रामायण या महाभारत के युद्ध के चित्र, क्रोध, वैराग्य, डरावना, वीभत्स, करुण रस से ओतप्रोत स्त्री, रोता बच्चा, अकाल, सूखे पेड़ कोई भी चित्र घर में न लगाएं। 

वास्तु शास्त्र के अनुसार, धारदार वस्तुओं पर शनि का प्रभाव होता है। ब्लेड, चाकू, तलवार, बंदूक, तोप आदि हिंसात्मक प्रवत्ति के होते हैं। इसलिए इस प्रकार की तस्वीरों से दूरी बनाकर रखें, क्योंकि जिस घर में इस प्रकार की तस्वीर लगाई गई है, उस घर में रहने वाले लोगों के मन में हिंसात्मक प्रवृत्ति पैदा होने की संभावना ज्यादा रहती है। 

इस प्रकार की तस्वीरें लगाएं

फल-फूल या हंसते हुए बच्चों की तस्वीरें जीवन शक्ति का प्रतीक होती हैं। उन्हें पूर्वी व उत्तरी दीवारों पर लगाना शुभ होता है। इनसे जीवन में खुशहाली आती है। उत्तर दिशा की दीवार पर हरियाली या हरे चहकते हुए पक्षियों का शुभ चित्र लगाएं। ऐसा करने से परिवार के लोगों की एकता बनेगी। साथ ही बुध ग्रह के शुभ परिणाम मिलेंगे, क्योंकि उत्तर दिशा बुध की दिशा होती है। घर में जुड़वां बत्तख व हंस के चित्र लगाना श्रेष्ठ रहता है।

ऐसा करने से समृद्धि आती है। बच्चों के शयन कक्ष में हरे फलदार वृक्षों के चित्र, आकाश, बादल, चंद्रमा अदि और समुद्र तल की शुभ आकृति वाले चित्र लगाने चाहिए।यूं तो पति-पत्नी के कमरे में पूजा स्थल बनवाना या देवी-देवताओं की तस्वीर लगाना वास्तुशास्त्र में निषिद्ध है, फिर भी राधा-कृष्ण की तस्वीर बेडरूम में लगा सकते हैं। इसके साथ ही बांसुरी, शंख, हिमालय आदि के चित्र दाम्पत्य सुख में वृद्धि के कारक होते हैं।

 
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

दुनिया में छिपा भगवान् भोलेनाथ और हनुमान जी एक ऐसा रहस्य, जिसे जान कर हैरान हो जाओगे !

दोस्तों आज हम आपको बताये हनुमान जी और