लोकसभा चुनाव: महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना को टक्कर देने के लिए 56 पार्टियों ने किया महागठबंधन

महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव के अखाड़े में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को कड़ी टक्कर देने के लिए शनिवार को 56 पार्टियों ने मिलकर एक मजबूत महागठबंधन को अंतिम रूप दिया. महागठबंधन में शामिल दो बड़ी पार्टियां- कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) घटक दलों के बीच सीटों के बंटवारे पर फैसला लेंगी. राज्य में लोकसभा की 48 सीटें हैं.लोकसभा चुनाव: महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना को टक्कर देने के लिए 56 पार्टियों ने किया महागठबंधन

Loading...

जिन छोटी पार्टियों के चुनाव लड़ने की संभावना है, उनमें प्रमुख हैं-स्वाभिमानी शेतकारी संगठन, बहुजन विकास अगाडी और युवा स्वामिभमानी पार्टी. सत्तारूढ़ बीजेपी-शिवसेना गठबंधन ने 48 सीटों पर 25:23 के अनुपात में अपने-अपने उम्मीदवार खड़े करेगी.

उधर, महाराष्ट्र की सिलोद सीट से कांग्रेस विधायक अब्दुल सत्तार ए. नबी ने शनिवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया. वे निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में लोकसभा चुनाव लड़ेंगे. सत्तार (54) ने मीडिया से कहा, “मैंने आज पार्टी को अपना इस्तीफा भेज दिया है. मैं औरंगाबाद लोकसभा सीट से चुनाव लड़ूंगा.”

सत्तार ने हालांकि कहा कि वह पार्टी नेतृत्व से या पार्टी में अन्य किसी से नाखुश नहीं हैं, जिसके कारण उन्होंने पार्टी छोड़ी है. उन्होंने कहा, “मैं मुस्लिम समुदाय के लिए कुछ करने, उनकी समस्याएं सुलझाने और उनकी मांगें पूरी करने में उनकी मदद करना चाहता हूं. मुझे लगता है कि यह एक बड़े मंच पर किया जा सकता है, जब एक मुस्लिम संसद के लिए निर्वाचित हो.” दो बार के विधायक सत्तार ने कहा, “मैं न सिर्फ चुनाव लड़ूंगा, बल्कि पीछे नहीं हटूंगा और आशा है मैं लोकसभा चुनाव निश्चित रूप से जीतूंगा.” उन्होंने कहा कि मैदान में सभी अन्य उम्मीदवारों के समक्ष वह कड़ी चुनौती पेश करेंगे.

दूसरी ओर महाराष्ट्र में महागठबंधन को ध्यान में रखते हुए शिवसेना ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने 23 सीटों के कोटे में से 21 सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. पार्टी ने अधिकांश सीटों पर मौजूदा सांसदों को ही उतारा है. मुंबई में पार्टी ने मुंबई दक्षिण से अरविंद सावंत, मुंबई दक्षिण-मध्य से राहुल शेवाले और मुंबई उत्तरपूर्व से गजानन कृतिकर को उम्मीदवार बनाया है. मुंबई की बची तीन सीटें गठबंधन के उसके साथी बीजेपी के पास है.

कोंकण क्षेत्र से, पार्टी ने थाणे से राजन विचारे, कल्याण से श्रीकांत शिंदे, रायगढ़ से केंद्रीय मंत्री अनंत गीते, रत्नागिरी-सिधुदुर्ग से विनायक राऊत को उम्मीदवार बनाया है. इसके अलावा पार्टी ने कोल्हापुर सीट से संजय मंडालिक, हटकानंगाले से धर्यशील माने, शिर्डी से सदाशिव लोखांडे, शिरूर से शिवाजीराव अधलराव, औरंगाबाद से चंद्रकांते खर और मवाल से श्रीरंग बर्ने को उम्मीदवार बनाया गया है.

वहीं पूर्वी महाराष्ट्र में, यवतमाल-वाशिम से भावने गवली, बुलढ़ाना से प्रतापराव जाधव, रामटेक से क्रुपाल तुमाने, अमरावती से आनंदराव अदसुल, परभणी से संजय जाधव, हिंगोली से हेमंत पाटिल और ओस्मानाबाद से आमराजे निमबाल्कर को उम्मीदवार बनाया गया था. वरिष्ठ शिवसेना नेता और उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने कहा कि दो अन्य सीटों पालघर और सतारा के लिए उम्मीदवारों की घोषणा अगले कुछ दिनों में की जाएगी.

बीजेपी-शिवसेना गठबंधन के तहत, दोनों पार्टियां यहां की 48 संसदीय सीट में से 25:23 के अनुपात से चुनाव लड़ रही हैं. पार्टी ने गठबंधन के अपने पांच छोटे दलों के लिए कोई सीट नहीं छोड़ी है. इस लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र में एक तरफ बीजेपी-शिवसेना का गठबंधन होगा तो दूसरी ओर उन 56 पार्टियों का महागठबंधन होगा जिनकी अगुआई कांग्रेस और एनसीपी जैसे दल करेंगे. यह पहला मौका होगा जब महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना बनाम महागठबंधन की लड़ाई इतने बड़े स्तर पर देखी जाएगी.

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *