राहुल गांधी बोले- झूठ बोलकर नहीं कर सकता सियासत

raga_29_05_2016नई दिल्ली। भाजपा और आम आदमी पार्टी पर झूठे वादों के सहारे सत्ता में आने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि वे झूठ बोलकर सियासत नहीं कर सकते।

उनकी सियासत गांधी जी की सोच में तपी है। हालांकि, इस कारण उन्हें इसका नुकसान भी उठाना पड़ा है। उन्होंने कहा, ‘वैसे यह भी सच है कि झूठे वादों से देश नहीं चलता है। लोगों को हर बार बेवकूफ नहीं बनाया जा सकता है। दिल्ली समेत देशभर के लोगों को इसकी समझ होने लगी है।’

राजघाट पर बिजली-पानी की समस्या को लेकर आयोजित कांग्रेस पार्टी के विरोध मार्च में दो घंटे देरी से आए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर जोरदार प्रहार किया। साथ ही लगातार हार से चिंतित पार्टी कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि कांग्रेस पब्लिसिटी वाली पार्टी नहीं है। यह लोगों से झूठे वादे नहीं कर सकती है। यह गरीबों की पार्टी है। देश को आगे बढ़ाना है तो गरीबों को आगे बढ़ाना होगा।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि एक सरकार झूठ पर 526 करोड़ रुपए खर्च कर रही है तो केंद्र में बैठी सरकार इसके लिए हजारों करोड़ रुपए खर्च कर रही है, लेकिन हकीकत से पर्दा उठने लगा है। मोदी सरकार के दो वर्ष पूरे होने पर इंडिया गेट पर आयोजित कार्यक्रम पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पूरे देश में सूखा पड़ा है। मराठवाड़ा में पानी नहीं है। लोग प्यास से दम तोड़ रहे हैं।

वहीं, यहां जश्न मन रहा है। फिल्मी सितारे नाच रहे हैं। नाच गाना हो रहा है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि एक झाड़ू उठाकर पूरे देश को साफ करने की बात करते हैं। एक तार जोड़कर दिल्ली वालों को बिजली देने का दावा करता है, लेकिन हकीकत यह है कि दिल्ली में न बिजली है न पानी, पर सरकार आड-इवेन और पर्यावरण प्रदूषण की बात करती है।

विरोध प्रदर्शन व मार्च को दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने भी संबोधित किया। इसमें दिल्ली के विभिन्न भागों के साथ ही उत्तर प्रदेश व हरियाणा समेत अन्य राज्यों के कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button