राहुल की पहली रैली में दमखम दिखाएगी उत्तराखंड कांग्रेस

- in उत्तराखंड, राज्य

देहरादून: राहुल गांधी के हाथों में कांग्रेस की कमान आने के बाद दिल्ली में पहली बार हो रही पार्टी की सामाजिक सद्भाव रैली में भाग लेने को प्रदेश से बड़ी संख्या में कार्यकर्ता जाएंगे। तीन हजार के लक्ष्य से करीब साढ़े तीन गुना ज्यादा यानी दस हजार कांग्रेसी उत्तराखंड से दम-खम का प्रदर्शन करेंगे। राहुल की पहली रैली में दमखम दिखाएगी उत्तराखंड कांग्रेस

इसे पार्टी के नए केंद्रीय नेतृत्व का असर ही कहेंगे कि रैली की तैयारियों को लेकर गढ़वाल मंडल के एआइसीसी और पीसीसी सदस्यों की बैठक में प्रदेश के तमाम दिग्गज नेताओं ने शिरकत की और रैली को लेकर और जोश-खरोश दिखाने का आह्वान किया। बैठक में प्रस्ताव पारित कर देश में महिला अत्याचारों में वृद्धि के लिए केंद्र सरकार की निंदा की गई तो अन्य प्रस्ताव पारित कर राज्य में बारिश और ओलावृष्टि से किसानों को हुए नुकसान का आकलन कर उन्हें राहत देने की मांग राज्य सरकार से की गई। 

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में पार्टी के गढ़वाल क्षेत्र के कांग्रेस नेताओं की बैठक प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह की अध्यक्षता में हुई। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, पूर्व मंत्रियों दिनेश अग्रवाल, मंत्री प्रसाद नैथानी, राजेंद्र भंडारी के साथ ही विधायकों व पूर्व विधायकों ने भी शिरकत की। 

इस मौके पर दिल्ली में पार्टी की 29 अप्रैल को प्रस्तावित सामाजिक सद्भाव रैली में बढ़-चढ़कर भाग लेने का निर्णय हुआ। यह तय किया गया कि गढ़वाल व कुमाऊं दोनों मंडलों से पांच-पांच हजार कांग्रेस कार्यकर्ता रैली में शिरकत करेंगे। दिल्ली जाने के लिए वाहनों की व्यवस्था पर चर्चा हुई।

बैठक में तीन प्रस्ताव पारित किए गए। प्रस्ताव पारित कर दिल्ली रैली में 3000 के लक्ष्य से आगे बढ़कर 10 हजार कार्यकर्ताओं की भागीदारी का संकल्प जताया गया। अन्य प्रस्ताव पारित कर बारिश और ओलावृष्टि से किसानों को हुए नुकसान का आकलन कर उन्हें राहत देने की पुरजोर पैरवी की गई। प्रदेश कांग्रेस ने तीसरा प्रस्ताव पारित कर देश में अराजकता के माहौल, महिलाओं पर अत्याचार, कठुवा, उन्नाव समेत विभिन्न स्थानों पर बच्चियों के साथ दुव्र्यवहार को लेकर केंद्र सरकार की घोर निंदा की गई।

साथ में ऐसे आपराधिक मामलों के लिए कठोर कार्रवाई की मांग की गई। बैठक में विधायक मनोज रावत, ममता राकेश, फुरकान अहमद, पूर्व विधायक अनुसूया प्रसाद मैखुरी, राजकुमार, पूर्व मंत्री तिलकराज बेहड़, प्रदेश उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट, गढ़वाल मंडल के जिलाध्यक्ष, जिला पंचायत अध्यक्ष, फ्रंटल प्रकोष्ठों के प्रदेश अध्यक्ष मौजूद थे। बैठक का संचालक प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने किया।

सम्बंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के