रविवार के दिन इस विधि से करें सूर्य देव की पूजा, बन जाएंगे सारे काम

रविवार का दिन भगवान सूर्य का माना जाता है और भगवान सूर्य की स्तुति तो सभी करते हैं, लेकिन भगवान सूर्य का एक ऐसा कल्याणमय स्तोत्र, जो सब स्तुतियों का सारभूत है. कहते हैं जो भगवान भास्कर के पवित्र, शुभ एवं गोपनीय नाम हैं और भगवान सूर्य के सान्निध्य में एक बार भी इसका जप करने से मानसिक, वाचिक, शारीरिक तथा कर्मजनित सब पाप नष्ट होने लगते हैं. आप सभी को बता दें कि यत्नपूर्वक संपूर्ण अभिलक्षित फलों को देने वाले भगवान सूर्य का इस स्तोत्र के द्वारा स्तवन करना चाहिए. आइए जानते हैं भगवान सूर्य का स्तोत्र.रविवार के दिन इस विधि से करें सूर्य देव की पूजा, बन जाएंगे सारे काम

Loading...

विकर्तनो विवस्वांश्च मार्तण्डो भास्करो रविः.
लोक प्रकाशकः श्री माँल्लोक चक्षुर्मुहेश्वरः॥
लोकसाक्षी त्रिलोकेशः कर्ता हर्ता तमिस्रहा.
तपनस्तापनश्चैव शुचिः सप्ताश्ववाहनः॥
गभस्तिहस्तो ब्रह्मा च सर्वदेवनमस्कृतः.
एकविंशतिरित्येष स्तव इष्टः सदा रवेः॥

‘विकर्तन, विवस्वान, मार्तण्ड, भास्कर, रवि, लोकप्रकाशक, श्रीमान, लोकचक्षु, महेश्वर, लोकसाक्षी, त्रिलोकेश, कर्ता, हर्त्ता, तमिस्राहा, तपन, तापन, शुचि, सप्ताश्ववाहन, गभस्तिहस्त, ब्रह्मा और सर्वदेव नमस्कृत- इस प्रकार इक्कीस नामों का यह स्तोत्र भगवान सूर्य को सदा प्रिय है.’ 

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *