योगी सरकार ने महाराष्ट्र सरकार पर साधा निशाना, जानें क्यों कहा-उद्धव को माफ नहीं करेगी मानवता

प्रवासी श्रमिकों के मुद्दे पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधा है. रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दफ्तर की ओर से ट्वीट कर कहा गया कि अपने खून पसीने से महाराष्ट्र को सींचने वाले कामगारों को शिवसेना-कांग्रेस की सरकार से सिर्फ छलावा ही मिला. लॉकडाउन में उनसे धोखा किया, उन्हें उनके हाल पर छोड़ दिया और घर जाने को मजबूर किया. इस अमानवीय व्यवहार के लिए मानवता उद्धव ठाकरे को कभी माफ नहीं करेगी.

Loading...

बता दें, शिवसेना के अखबार सामना में बीजेपी और बीजेपी की राज्य सरकारों पर प्रवासी मजदूरों के मुद्दे पर तीखा हमला किया गया है. शिवसेना नेता संजय राउत ने एक लेख में बीजेपी की राज्य सरकारों को कोरोना संकट में मजदूरों के मुद्दे पर फेल बताया है. खासकर योगी सरकार पर आरोप लगाया गया है कि मजदूरों को वापस नहीं घुसने देकर उनके साथ अमानवीय बर्ताव हो रहा है. लेख में राउत ने योगी आदित्यनाथ की तुलना हिटलर से की और नसीहत दी कि मजदूरों से व्यवहार पर उन्हें मन की गांठ खोलनी चाहिए.

संजय राउत के इस लेख पर यूपी सरकार की ओर से जवाब दिया गया है. मुख्यमंत्री दफ्तर के आधिकारिक ट्वीट में लिखा गया है कि अपने घर पहुंच रहे सभी बहनों भाइयों का प्रदेश में पूरा ख्याल रखा जाएगा. अपनी कर्मभूमि को छोड़ने के लिए मजबूर करने के बाद उनकी चिंता का नाटक मत कीजिए. सभी श्रमिक कामगार बंधु आश्वस्त हैं कि अब उनकी जन्मभूमि उनका हमेशा ख्याल रखेगी, शिवसेना और कांग्रेस आश्वस्त रहे. ट्वीट में लिखा गया है, संजय राउत जी, एक भूखा बच्चा ही अपनी मां को ढूंढता है. यदि महाराष्ट्र सरकार ने ‘सौतेली मां’ बन कर भी सहारा दिया होता तो महाराष्ट्र को गढ़ने वाले हमारे उत्तर प्रदेश के निवासियों को प्रदेश वापस न आना पड़ता. अंत में एक और ट्वीट में लिखा गया है, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश खुले दिल से और प्रवासी भाई बहनों के गृह प्रदेश में ही आजीविका के वादे के साथ, अपने सभी प्रवासी कामगारों/श्रमिक बंधुओं का स्वागत कर रहा है.

सामना में क्या लिखा

शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने यूपी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि वो अपने ही लोगों को राज्य में घुसने की इजाजत नहीं दे रही है. यह ठीक वैसा ही है जैसे दूसरे विश्व युद्ध के दौरान हिटलर ने ज्यूस के साथ किया था. पीएम मोदी ने वाराणसी में दलित परिवार के पैर धोकर जिस मानवता का परिचय दिया था, उसका क्या हुआ? महाराष्ट्र में बीजेपी उद्धव ठाकरे सरकार पर असफल होने का आरोप लगा रही है. लेकिन असल असफलता तो गुजरात और यूपी में दिख रही है. राउत ने कहा, ‘राज्य में लोगों को घुसने से रोकना ठीक वैसा ही है जैसे दूसरे विश्व युद्ध के दौरान हिटलर ने ज्यूस (यहूदियों) की हत्या की थी.’

शिवसेना के मुखपत्र सामना में ‘बाबा मन की अंकुर खोल’ शीर्षक से एक आर्टिकल प्रकाशित किया गया है, जिसमें कहा गया है, ‘यूपी सरकार जो कर रही है वह अमानवीय है. वो अपने ही लोगों को राज्य में घुसने नहीं दे रही है. वाराणसी में पीएम ने दलितों के पैर धोए थे और बताया था कि मानवता क्या होती है. लेकिन आज उस मानवता का क्या हुआ?’ राउत ने महाराष्ट्र बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘महाराष्ट्र में बीजेपी लोगों को बता रही है कि ठाकरे सरकार ठीक से काम नहीं कर पा रही है. जबकि असल में तो गुजरात और यूपी सरकार असफल रही है. ‘

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *