मोदी-मर्केल का साझा बयान, ग्रीन एनर्जी के लिए दो अरब यूरो देगा जर्मनी

india-germany (1)नई दिल्ली( 5 अक्टूबर): जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्केल तीन दिन के दौरे पर भारत आई हैं। दिल्ली के हैदराबाद हाउस में मार्केल ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इस दौरान मोदी ने कहा कि भारत के इकोनॉमिक रिफॉर्म में जर्मनी एक नैचुरल पार्टनर है। ग्रीन एनर्जी कॉरिडोर और सोलर प्रोजेक्ट्स के लिए जर्मनी की एक-एक अरब यूरो (करीब 15 हजार करोड़ रुपए) की हेल्प बहुत मायने रखती है। दोनों देशों के बीच ट्रेड और दूसरे सेक्टरों से जुड़े 12 एमओयू साइन हुए।

मार्केल ने क्या कहा
– दोनों देशों के रिप्रजेंटेटिव के बीच अच्छी बातचीत हुई और हमने कई एग्रीमेंट्स साइन किए।

– भारत और जर्मनी के बीच इकोनॉमिक रिलेशन बहुत ही डायनामिक हैं।

– हम साइंस टेक्नॉलॉजी और वोकेशन्ल फिल्डस में आपसी सहयोग बढ़ा रहे हैं।

– हर ओर विकास तभी किया जा सकता है जब रूरल एरिया को नेगलेक्ट न किया जाए।

– दुनिया की मुश्किलों को हल करने के लिए भारत और जर्मनी पीसफुल और डिप्लोमैटिक सॉल्यूशन पर काम कर रहे हैं।

– हम अफगानिस्तान में सिक्युरिटी को लेकर चिंतित हैं।

मोदी ने क्या कहा

– भारत के इकोनॉमिक रिफॉर्म में जर्मनी एक नैचुरल पार्टनर है। जर्मनी की स्ट्रैंथ और भारत की प्रॉयरिटी एक है।

– इंटर-गवर्मेंटल कंसल्टेंशन का मॉडल यूनिक है। भारत-जर्मनी रिलेशंस में जर्मन डेलिगेशन ने काफी सक्रियता दिखाई।

– चांसलर मार्केल की लीडरशिप यूरोप और दुनिया के लिए मुश्किल वक्त में कॉन्फिडेंस और भरोसे के लिए बड़ा सोर्स है।

– टेंपरेचर पर लगाम लगाने के लिए हमें टेंपरामेंट में भी बदलाव लाने होंगे।

– भारत में ग्रीन एनर्जी कॉरिडोर और सोलर प्रोजेक्ट्स के लिए जर्मनी द्वारा एक-एक बिलियन यूरोज की मदद काफी मायने रखती है।

– G4 समिट में हुई बातचीत के मुताबिक, चांसलर और मैं (मोदी) यूएन में बदलाव के लिए बात उठाते रहेंगे। खासकर सिक्युरिटी काउन्सिल में बदलाव के लिए।

इससे पहले मार्केल ने कहा,”पीएम ने इस देश के डेवलपमेंट लिए जो भी महत्वकांक्षी योजनाएं बनाई हैं उसका हम पूरी तरह से सपोर्ट करेंगे।”

हैदराबाद हाउस में दोनों देशों के मंत्री

लंच के दौरान पीएम मोदी और मर्केल की बातचीत

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से बात करती मर्केल

राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देती मर्केल

इससे पहले सोमवार को राष्ट्रपति भवन में मार्केल का ऑफिशियल वेलकम किया गया। इस मौके पर मार्केल ने कहा, ”भारत और जर्मनी के बीच IGC ( इंटर गवर्नमेंटल कंसल्टेशन्स) मीटिंग में हम बड़े पैमाने पर आपसी सहयोग बढ़ाने पर बात करेंगे। हम इकोनॉमी, एग्रीकल्चर, इंटरनल सिक्युरिटी, डेवलपमेंट, डिफेंस और फाइनेंशियल रिलेशन्स पर बात करेंगे।”

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button