मोदी ने लिया एक्शन जिससे भारत के इस उच्चायोग अधिकारी को पाक छोड़ने पर मजबूर

जी हां!! पीएम मोदी के कड़े रुख से पाकिस्तान की हुलिया टाइट हो ही गयी थी लेकिन अबकी बार मोदी ने जो एक्शन लिया है उससे पाकिस्तान ने भारतीय उच्चायोग के अधिकारी सुरजीत सिंह को निष्काषित करने का फैसला लिया है| जवाबी कार्रवाई के तहत पाकिस्तान ने भारतीय उच्चायोग के एक अधिकारी को अवांछित व्यक्ति करार दिया और उनसे 48 घंटे के भीतर देश छोड़कर जाने को कहा। विदेश कार्यालय ने एक वक्तव्य में कहा कि फैसले से भारतीय उच्चायुक्त गौतम बंबावले को अवगत करा दिया गया, जिन्हें विदेश मंत्रालय ने तलब किया था।

मोदी ने लिया एक्शन जिससे भारत के इस उच्चायोग अधिकारी को पाक छोड़ने पर मजबूर

वक्तव्य में कहा गया, ‘विदेश सचिव (एजाज चौधरी) ने भारतीय उच्चायुक्त को आज तलब किया और भारतीय उच्चायोग के एक अधिकारी सुरजीत सिंह को अवांछित करार दिए जाने के पाकिस्तान सरकार के फैसले से अवगत कराया।’ वक्तव्य में कहा गया कि विदेश सचिव ने भारतीय अधिकारी की गतिविधियों को लेकर गंभीर चिंता का इजहार किया, जो वियना संधि और स्थापित कूटनीतिक मानदंडों का घोर उल्लंघन हैं।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के गुरूवार रात जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार विदेश सचिव एजाज अहमद चौधरी ने भारतीय उच्चायुक्त गौतम बम्बावाले को तलब करके पाकिस्तान सरकार के इस निर्णय के बारे में जानकारी दी। विदेश सचिव ने आरोप लगाया कि सुरजीत सिंह राजनयिक शिष्टाचार के परे जाकर आपत्तिजनक गतिविधियों में लिप्त है जो विएना संधि का उल्लंघन है।   

उन्होंने कहा कि सिंह अपने परिवार के साथ 29 अक्टूबर तक पाकिस्तान छोड़ दे। इससे पूर्व भारत ने पाकिस्तानी उच्चायोग के एक अधिकारी महमूद अख्तर को जासूसी के लिये रक्षा दस्तावेजों के साथ पकड़े जाने के बाद उसे अवांछित व्यक्ति करार देकर 48 घंटे के अंदर देश छोडऩे के लिये कहा था। भारतीय विदेश सचिव एस जयशंकर ने आज सुबह नई दिल्ली स्थित साउथ ब्लॉक में पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित को बुलाया तथा अख्तर को पुलिस द्वारा पकड़े जाने की जानकारी दी और उन्हें इस मामले में बरामद साक्ष्य दिखाये। इसके बाद जयशंकर ने महमूद अख्तर को अवांछित घोषित करने के फैसले की जानकारी दी और उसे परिवार के साथ 29 अक्टूबर तक यानी 48 घंटे के अंदर देश छोडऩे के लिए कहा था।  

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button