मोदी के शेर की दहाड़ एक जवान के बदले 10 की गर्दन लाएंगे हम, घुसकर लेंगे बदला

रायपुर। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को छत्तीसगढ़ के सुकमा में केंद्रीय रिजर्व पुलिसबल (सीआरपीएफ) पर हुए नक्सली हमले को नृशंस अपराध करार देते हुए कहा कि सरकार इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कठोर कदम उठाएगी।

अभी अभी: आखिरकार सीएम योगी ने कर दिया ये ऐलान जिसकी बिल्कुल भी नहीं थी उम्मीद, अब सरकारी…

राजनाथ सिंह ने मंगलवार सुबह सुकमा पहुंचकर घटनास्थल का दौरा करने के बाद संवाददाताओं को बताया कि विभिन्न राज्यों के अधिकारियों के साथ एक संयुक्त बैठक आठ मई को होगी, जिसमें नक्सलियों के खिलाफ रणनीति को पुख्ता किया जाएगा।

उन्होंने कहा, “यह हमला बौखलाहट में आकर किया गया। वे जनजातीय क्षेत्रों में चल रहे विकास कार्यो के खिलाफ हैं, लेकिन हम उन्हें सफल नहीं होने देंगे। जरूरत पड़ी तो हम रणनीति में बदलाव करेंगे।” लगभग 400 हथियारबंद नक्सलियों ने सोमवार को सीआरपीएफ के जवानों पर हमला कर दिया, जिसमें 25 जवान शहीद हो गए। यह 2013 के बाद राज्य में सबसे बड़ा नक्सली हमला है।

2010 में 76 जवानों की मौत हुई थी

ये घटना सोमवार दोपहर 12 बजे की है जब जवानों की टीम रोड ओपनिंग के लिए निकली थी। सड़क निर्माण की सुरक्षा में लगे ये जवान खाना खाने की तैयारी कर रहे थे उसी दौरान घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों पर गोलीबारी शुरू कर दी। खास बात यह है कि 2010 में इसी जगह हुए नक्सली हमले में 76 जवानों की मौत हो गई थी। फिलहाल घटनास्थल पर सीआरपीएफ की कोबरा टीम तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। इस घटना के बाद दूसरे इलाक़ों में भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button