मुश्किल में खाकी, हवालात में मिली मार से 2 के उड़े प्राण पखेरू

two-accused-of-theft-died-in-police-custody-big-tussle-between-police-people_landscape_1459491303एजेन्सी/यूपी के पीलीभीत के पूरनपुर में पुलिस ने चोरी में आरोपित बता कर मोहल्ला रजागंज के दो युवकों शकील अहमद और सद्दाम को बुधवार की रात घर से उठाया और थाने आते आते उनका अपराध नशीले पदार्थों की तस्करी में बदल गया। 

लंबे समय तक जेल में रखने के इरादे से एनडीपीएस लगा कर पकड़े गए इन दोनों की असली खता तो जांच में ही सामने आएगी लेकिन अगले दिन सुबह ही उन्हें हवालात में मार दिया गया। मौत की वजह पर पर्दा पड़ा रहे इसलिए पूरा दिन बीत गया लेकिन उनका पोस्टमार्टम तक नहीं किया गया। 

दोहरी हत्या से गुस्साए लोगों ने कोतवाली घेरी तो सद्दाम की पत्नी की तहरीर पर आरोपी इंस्पेक्टर कोतवाली और दो सब इंस्पेक्टरों समेत 13 पुलिस वालों और एक सरकारी डॉक्टर के खिलाफ हत्या और हत्या के षडयंत्र का मुकदमा दर्ज किया गया है। साथ ही मामले की मजिस्ट्रेटी जांच के भी आदेश दे दिए गए हैं। 

एसपी अनिल कुमार ने बताया कि प्रथमदृष्ट्या दोषी पाए जाने पर इंस्पेक्टर कोतवाली, मुंशी और संतरी को निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ नगर चौकी इंचार्ज को भी लाइन हाजिर किया गया है।सद्दाम की पत्नी के अनुसार उसके पति को पुलिस बुधवार की शाम चोरी करने के आरोप में घर से उठा ले गई थी। ऐसा ही कथन दूसरे मृतक शकील के परिवार का भी है। पुलिस ने दोनों को हवालात में बंद कर रखा था। हवालात में ही बृहस्पतिवार सुबह करीब साढ़े दस बजे अचानक दोनों युवकों की हालत बिगड़ गई। आननफानन में पुलिस वाले उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक जब तक वहां इलाज शुरू हो पाता, दोनों ने एक-एक कर दम तोड़ दिया। 

सीएचसी के डॉक्टरों ने उनकी मौत की बात छिपाकर दोनों की हालत गंभीर बताते हुए दोनों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में दोनों को मृत घोषित कर दिया गया। युवकों की मौत की सूचना पर उनके परिवारों में कोहराम मच गया। गुस्साए लोगों ने कोतवाली घेर ली। सूचना पर डीएम मासूम अली सरवर, डीआईजी आशुतोष कुमार मौके पर पहुंच गए। कई थानों की फोर्स भी बुलाई गई।

उच्चाधिकारियों के निर्देश पर सद्दाम की पत्नी की तहरीर पर कोतवाल और अन्य पुलिसकर्मियों और अस्पताल के डाक्टरों के खिलाफ हत्या और हत्या के षडयंत्र में शामिल होने की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया।सद्दाम चोरी के एक मुकदमे में वांछित था। सद्दाम और शकील अहमद बुधवार की शाम को नशीले पदार्थ सहित गिरफ्तार किए गए थे। दोनों की कैसे मौत हुई, इसका खुलासा जांच में होगा। कोतवाल शक्ति सिंह, घटना के समय कार्यालय में तैनात मुंशी और संतरी पहरा को निलंबित और कस्बे के चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर कर दिया गया है। पूरे मामले की जांच एएसपी को सौंपी गई है। 

जांच में अगर अन्य पुलिस कर्मियों की लापरवाही पाई गई तब उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। कुछ लोगों ने डॉक्टरों पर लाशें रेफर करने की जानकारी दी है। इसकी जांच के लिए सीएमओ को लिखा जाएगा। -अनिल कुमार सिंह, एसपी
 
मामला गंभीर है। पूरे मामले की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दे दिए गए हैं। मृतक परिवार के आश्रितों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता भी तात्कालिक रूप से किसी स्वयंसेवी संस्थाओं से दिलाई जाएगी। जांच में जो भी दोषी मिलेगा उस पर कार्रवाई होगी। – मासूम अली सरवर, जिलाधिकारी

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button