मायावती ने कहा- हरियाणा में पुलिस के पहरे में दलित बच्‍चों को जिंदा जलाया गया

a1107-300x233लखनऊ, 23 अक्‍टूबर. देश में दलितों के खिलाफ बढ़ रहे अत्‍याचार को देखते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने शुक्रवार को लखनऊ स्थित अपने आवास पर प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की। मीडिया को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि हरियाणा में चार दलितों को पुलिस के पहरे में जिंदा जला दिया गया। इस राज्‍य में बीजेपी का शासन है। ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी को हरियाणा के सीएम खट्टर से इस्‍तीफा लेना चाहिए। यदि पीएम ऐसा नहीं करते हैं तो यह साफ हो जाता है कि मोदी की नीयत में खोट है। मायावती ने कहा कि हत्‍याकांड को लेकर केंद्रीय मंत्री वीके सिंह का बयान बेहद शर्मनाक है, उन्‍हें माफी मांगनी चाहिए।

पुलिस के पहरे में जिंदा जलाया गया
मायावती ने कहा कि हरियाणा में जिन चार दलितों को जिंदा जलाया गया, वे सामंतवादी लोगों के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे थे। ये सामंतवादी लोग इन दलितों को पेरशान और गुलाम बनाने की बात कर रहे थे। इस वजह से दलित परिवार गांव छोड़ने की बात कह रहा था। इस पर हरियाणा सरकार ने कहा कि गांव छोड़ने की जरूरत नहीं है। गांव में आप बिल्‍कुल सुरक्षित हैं और उन्‍हें पुलिस सुरक्षा भी मुहैया कराई। इसके बाद पुलिस की पहरेदारी में गांव के दबंगों ने चार दलितों को जिंदा जला दिया। यह घटना बेहद ही शर्मनाक है। पीएम मोदी को घटना के खिलाफ हरियाणा के सीएम का इस्‍तीफा तत्‍काल मांगना चाहिए, लेकिन वे ऐसा नहीं करेंगे क्‍योंकि बीेजपी दोहरी राजनीति करती है।

वीके सिंह का बयान बेहद ही बेतुका और शर्मनाक
मायावती ने कहा कि दलितों को जलाए जाने के मामले में केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने कहा कि यदि कोई कुत्‍ते को भी पत्‍थर मारता है तो दोषी केंद्र सरकार को ठहराया जाता है। ऐसे मामलों में केंद्र क्‍या कर सकती है? मायावती ने वीके सिंह के इस बयान की घोर निंदा करते हुए कहा कि बयान से दलितों के घाव हरे हुए हैं। पीएम मोदी को इस मामले में कठोर कार्रवाई करनी चाहिए। मायावती ने यह भी कहा कि यदि मोदी ऐसा नहीं करते हैं तो उनकी नीयत पर देश को शक होगा और यह भी तय हो जाएगा उनके मन में दलितों के प्रति खोट है। बता दें कि, पीएम मोदी भी एक दलित हैं।

घडि़याली आंसू बहा रहे हैं नेता
मायावती ने दलित हत्‍याकांड पर बयानबाजी को लेकर कहा कि कांग्रेस और बीजेपी नेता सिर्फ घडि़याली आंसू बहा रहे हैं। उन्‍हें सिर्फ दलितों के वोट से मतलब है। मायावती ने कहा कि हरियाणा के सीएम खट्टर को तत्‍काल अपने पद से इस्‍तीफा दे देना चाहिए। वहीं, हाल ही में पीडि़त परिवार से मिलने वाले कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी भी सिर्फ वोट मांगने के लिए दलितों के साथ चारपाइ पर बैठते हैं और उनके साथ खाना खाते हैं। ये सभी नेता दोहरी राजनीति कर रहे हैं।

सपा और बीेजेपी मिल चुकी है
मायावती ने कहा कि सपा और बीेजेपी अंदर ही अंदर मिल चुकी है। सपा की हालत यूपी में खराब हो चुकी है और बीजेपी की केंद्र में। इस वजह से यूपी विधानसभा चुनाव 2017 मतें अपनी साख बचाने के दोनों पार्टियां आपस में मिलकर गंदी राजनीति कर रही हैं। मायावती ने कहा कि ये दोनों पार्टियां हिंदू-मुस्लिम को आपस में भिड़ाकर वोट हासिल करने की राजनीति कर रही हैं। यूपी की आम जनता दोनों पार्टियों को विधानसभा चुनाव में मुंहतोड़ जवाब देगी।

अंबेडकर के सम्‍मान पर बीेजेपी कर रही नाटक
मायावती ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि अंबेडकर के सम्‍मान को लेकर अब मोदी दोहरी राजीनति कर रहे हैं। मोदी कहते हैं कि वह अंबेडकर का सम्‍मान मुंबई में करेंगे, लेकिन उन्‍हें यह नहीं पता कि अंबेडकर के बताए रास्‍ते पर चलना ही उनका सबसे बड़ा सम्‍मान है। ऐसे में सिर्फ दलितों का वोट पाने के लिए बीेजेपी नाटक कर रही है।

मायावती ने ये भी कहा
आजादी से अब तक विपक्षी दलों की सरकारें रहीं, दलितों के प्रति जातिवादी मानसिकता रही।
विपक्षी दलों की सरकारों में दलितों का उत्पीड़न हो रहा है।
सामंतवादी लोग दलितों को गुलाम बनाना चाहते हैं।
स्वाभिमानी दलितों की हत्या हो रही है।
अब आरोपियों को हरियाणा सरकार बचा रही है।
उत्तर प्रदेश दलितों के उत्पीड़न में सबसे आगे है।
फरीदाबाद की घटना पर बीएसपी ने मदद की।
जब केंद्र में कांग्रेस सत्‍ता में होती है तो BJP नाटक करती है और जब BJP सत्‍ता में होती है तो कांग्रेस नाटक करती है।
गिरी मानसिकता वाले वीके सिंह को बर्खास्त करें पीएम नरेंद मोदी।
सभी धर्मों के लोगों का सम्मान होना चाहिए।
दादरी कांड पर सपा सरकार ने जमकर ड्रामेबाजी की और मुख्य आरोपियों पर कार्रवाई नहीं की।
दादरी में सिर्फ मुस्लिम वोट के लिए खानापूर्ति हुई।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button