महिला पॉलिटेक्निक में कक्ष में घुसकर प्रोफेसर से मारपीट

doctor2_20151022_105743_22_10_2015 (2)मध्यप्रदेश: ग्वालियर। महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज में बुधवार को 3 युवकों ने प्रोफेसर के कक्ष में घुसकर उनके साथ मारपीट कर दी। प्रोफेसर ने पड़ाव पुलिस को आवेदन दिया है। पुलिस ने मेडिकल परीक्षण के बाद जांच-पड़ताल शुरू कर दी है। प्रोफेसर का आरोप है कि युवकों ने सरियों से हमला किया है। घटना के पीछे उन्होंने प्राचार्य का हाथ बताया है।

कम्प्यूटर साइंस के विभागाध्यक्ष प्रो. राजीव गुप्ता ने बताया कि दोपहर 1 बजे वे अपने कक्ष में थे। इसी बीच 3 युवक वहां आ धमके। दो के हाथ में सरिए थे। युवकों ने कहा कि वे प्राचार्य को बहुत परेशान कर रहे हैं। आए दिन उन पर गड़बड़ियों के आरोप लगाकर मानसिक रूप से प्रताड़ित करते हैं। प्रो. गुप्ता का कहना है कि इतना कहते ही युवकों ने गालियां देते हुए मारपीट शुरू कर दी। उन पर सरियों से प्रहार किया। शोर मचाने पर युवक भाग खड़े हुए। वे उनके पीछे भागे, लेकिन आरोपी एक ऑटो में बैठकर भाग निकले।

पुलिस ने दर्ज नहीं किया मामला

प्रो. गुप्ता ने हमले की सूचना पड़ाव थाना पुलिस को दी। पुलिस उन्हें सिविल अस्पताल हजीरा में मेडिकल के लिए लेकर गई। उनके हाथ, सिर व कान में चोट हैं। प्रो. गुप्ता का कहना है कि इस गंभीर मामले में पुलिस ने कोई उचित कार्रवाई नहीं की। केवल आवेदन ही लिया है।

प्राचार्य पर लगाया पिटाई कराने का आरोप

प्रो. गुप्ता के पिता रामशरण गुप्ता का कहना है कि हमले के पीछे संस्थान के प्राचार्य प्रो. सुरेन्द्र शर्मा का हाथ है। प्राचार्य शर्मा आर्थिक अनियमितताओं से घिरे हैं। उन पर दतिया पॉलिटेक्निक कॉलेज का भी प्रभार है। उन्होंने वहां 2.5 करोड़ का घोटाला किया है। इसकी शिकायत उन्होंने ईओडब्ल्यू में की है। इसी तरह यहां महिला पॉलिटेक्निक में भी उन्होंने 6 करोड़ की गड़बड़ी की है। इसकी शिकायत भी ईओडब्ल्यू में की है। श्री गुप्ता का कहना है कि इसलिए प्राचार्य उनसे और बेटे से बदला लेना चाहते हैं। यह हमला भी इसी के चलते कराया गया है।

इनका कहना है

गड़बड़ियों के आरोपों की 2011 से जांच चल रही है। इसमें सच्चाई सामने आ जाएगी। प्रो. गुप्ता के आरोप बेबुनियाद हैं। आंख के ऑपरेशन के कारण मैं दो दिन से छुट्टी पर हूं।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button