महिलाएं पीठ दर्द को न समझें मामूली…  

- in हेल्थ

आजकल कई महिलाएं पीठ में दर्द की शिकायत से जूझ रही हैं। सिंकाई व मालिश का सहारा लेने के बावजूद भी उन्हें आराम नहीं हैं। हमारे देश में ऐसे लोगों की तादाद लगातार बढ़ रही है। ऑस्टियोपोरोसिस के संकेत भी ऐसे ही होते हैं। यह बहुत आम बीमारी है जो चुपके-चुपके हड्डियों को कमजोर करती जाती है। मेडिकल कॉलेज के हड्डी रोग विभाग के पूर्व चिकित्सक डॉ. इमरान अख्तर के मुताबिक अक्सर इसका पता तब चलता है जब रीढ़, कलाई या कूल्हे की हड्डी में फ्रैक्चर हो जाता है। बीमारी अंदर ही अंदर हड्डियों को इस तरह पतला, कमजोर व खोखला कर देती है कि हल्की चोट से भी हड्डी टूट जाती है।महिलाएं पीठ दर्द को न समझें मामूली...  

क्या है वजह

व्यायाम व शारीरिक श्रम की कमी।
फास्ट फूड, कोल्ड ड्रिंक आदि का सेवन।
दूध, इससे बने पदार्थों व कैल्शियम युक्त व पोषक पदार्थों के कम सेवन।
आंत, लिवर या किडनी की बीमारी, रुमेटाइड आर्थराइटिस, गर्भावस्था।
अधिक शराब का सेवन व धूमपान।
महिलाओं में मासिक धर्म बंद होने तथा एक खास तरह का हॉर्मोन।
इसे भी पढ़ें : पुरुष करें ये 5 काम, एक हफ्ते में झड़ना बंद हो जाएंगे बाल

ऑस्टियोपोरोसिस बीमारी के लक्षण

कमर या पीठ में लगातार दर्द की शिकायत हो।
मामूली चोट पर भी हड्डियों में फ्रैक्चर या सूजन।
लंबाई कम होना।
ऐसे करें बचाव
दूध या इससे बने पदार्थों, प्रोटीन व दूसरे पोषक तत्वों को भोजन में करें शामिल।
रजोनिवृत्त महिलाएं खासतौर पर कैल्शियम व विटामिन डी युक्त भोजन का सेवन करें।
फास्ट फूड के सेवन से बचें।
40-45 की उम्र के बाद हड्डियों के घनत्व की नियमित जांच कराएं।
रोग का लक्षण दिखते ही तत्काल इलाज कराना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सावधान: लगातार बैठने से इन बीमारियों को दे रहे है न्यौता

जब भी थक जाते है तो हम बैठने