आगरा के बूथ स्थल 375 व 374 पर 30 मिनट देरी से मतदान

यूपी के पहले चरण के लिए शनिवार को हो रहे आगरा, मथुरा सहित ब्रज में की कई सीटों पर सुबह से ही मतदान शुरू हो गया। मतदान के साथ ही कहीं ईवीएम में गड़बड़ी दिखाई दी तो कहीं जबरन मतदान न डालने देने की शिकायतें सामने आईं।आगरा के बूथ स्थल 375 व 374 पर 30 मिनट देरी से मतदान आगरा ग्रामीण सीट पर देवरी गांव के मतदान केंद्र पर लोगों ने शिकायत की है कि प्रधान ही उन्हें वोट नहीं डालने दे रहा है। इसी सीट पर बूथ क्रमांक 1415 पर फर्जी मतदान के आरोप भी लगाए गए। आगरा के बूथ स्थल 375 व 374 पर 30 मिनट देरी से मतदान शुरू हुआ। फतेहपुर सीकरी के कोरई स्थित प्रायमरी स्कूल में भी मशीन खराब रही।

मथुरा में वृंदावन रोड स्थित पीएमवी पालीटेक्निक बूथ में दो ईवीएम मशीन खराब रहीं जिससे सुबह मतदान देरी से शुरू हुआ। मथुरा के चरण लाल इंटर कॉलेज में कमरा नंबर 374 में मशीन खराब होने के कारण 7:30 पर मतदान शुरू हो सका। मथुरा के कोसी के मीना नगर में एक बूथ पर मशीन खराब होने से लेट शुरू हुआ मतदान। दूसरी मशीन भी निकली खराब। अब तीसरी मशीन से 1 घंटे बाद मतदान शुरू हुआ।

फिरोजाबाद के शिकोहाबाद विधानसभा छेत्र के गाव नगला कोठी के ग्रामीणों ने किया सामूहिक मतदान का बहिष्कार किया। गांव में विकास न होने का हवाला देकर वे मतदान न करन के लिए एकजुट हो गए। अधिकारी उन्हें मनाने में जुटे हुए हैं।

मतदाताओं में दिखा जोश

आगरा में अपने-अपने बूथ पर पहला वोट डालने को लेकर भी मतदाताओं में जोश देखा गया। इनमें खासतौर पर युवा मतदाता शामिल रहे। आवास विकास सेक्टर-4 में जेडी पब्लिक स्कूल में 24 साल के शुभम चौबे ने बूथ संख्या-99 पर पहला वोट डाला। शुभम कहते हैं कि वे दूसरी बार वोटिंग कर रहे हैं।

पहली बार लोकसभा के चुनाव में वोट डाला था, उस दौरान भी उन्होंने सबसे पहले मतदान किया था। इस बार भी वे सुबह 6.30 बजे आ गए थे। लाइन में सबसे पहले लगे रहे। सुबह 7.00 बजे जैसे ही वोटिंग शुरू हुई तो उन्होंने अपने बूथ पर पहला मतदान किया। उन्हें बेहद खुशी है। इसी तरह दयालबाग के सन फ्लावर स्कूल में दयालबाग की रहने वाली एश्वर्या ने भी पहला मतदान किया।

ताजनगरी में जुटे लोग, दिव्यांग और बुर्जुगों ने डाला वोट

युवाओं के साथ वृद्धजनों में भी मतदान के प्रति जोश नजर आ रहा है। रोहता की रहने वाली 90 साल की शांती देवी भी रोहता इंटर कॉलेज में मतदान करने पहुंची। शांती देवी सही तरह चल नहीं पाती हैं, मगर उनकी जिद पर परिवार वाले सुबह ही उन्हें पोलिंग बूथ पर लेकर पहुंचे। मतदाता पर्ची से उन्होंने वोट डाला। बातचीत में वे काफी खुश नजर आईं। बोली कि हर बार वोट करती हूं। वोट हर किसी का अधिकार है। सभी को अपने इस अधिकार का इस्तेमाल करना चाहिये।

दिव्यांग मतदाताओं ने झेली परेशानी

दिव्यांग मतदाताओं के लिए पोलिंग बूथ पर सभी इंतजाम के दावे प्रशासन के झूठे साबित हुए। अबु उल्लाह दरगाह के पास रहने वाले आशिक खान उत्तरी विधानसभा में चंद्रावती इंटर कॉलेज में वोट डालने पहुंचे। दोनों पैरों से दिव्यांग आशिक किसी तरह मतदान स्थल पर पहुंचे। मगर केंद्र के अंदर नहीं पहुंच सके। वहां कोई भी व्हील चेयर आदि का इंतजाम नहीं था। काफी देर वहीं रुके। बाद में परिजन उनकी ट्राई साइकिल लेकर आए। किसी तरह उनका वोट डाला गया।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button