फेसलेस टैक्स असेसमेंट के लिए ई-असेसमेंट सेंटर स्थापित

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (सीबीडीटी) ने इलेक्ट्रॉनिक तरीके से टैक्स असेसमेंट के लिए नेशनल ई-असेसमेंट सेंटर (एनईएसी) स्थापित किया है। सरकार टैक्स असेसमेंट के लिए व्यक्तिगत उपस्थिति की अनिवार्यता को खत्म करना चाहती है। यह ई-असेसमेंट सेंटर उसी प्रोग्राम का हिस्सा है।

Loading...

सरकार यह कदम टैक्स कलेक्शन और जांच प्रक्रिया के दौरान होने वाले भ्रष्टाचार पर काबू पाने के लिए उठा रही है। इससे टैक्स कलेक्शन और असेसमेंट में पारदर्शिता भी आएगी। इस प्रक्रिया में टैक्स असेसमेंट इलेक्ट्रॉनिक तरीके से होगा, इसमें असेसी को टैक्स अधिकारी के सामने उपस्थित होने की कोई जरूरत नहीं होगी। इसके लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआइ), मोबाइल एप जैसे माध्यमों का प्रयोग किया जाएगा।

सीबीडीटी ने 1984 बैच के आइआरएस कृष्ण मोहन प्रसाद को एनईएसी का प्रिंसिपल चीफ कमिश्नर नियुक्त किया है। इनकी नियुक्ति का आदेश इसी सप्ताह जारी किया गया था। एनईएसी में कुल 619 अधिकारी होंगे। इनमें चार चीफ कमिश्नर, 25 प्रिंसिपल कमिश्नर, एक कमिश्नर, 144 एडिशनल कमिश्नर, 163 डिप्यूटी कमिश्नर, 281 इनकम टैक्स अधिकारी होंगे। सीबीडीटी के सदस्य अखिलेश रंजन ने कहा कि एनईएसी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम है। एनईएसी आठ क्षेत्रीय कार्यालयों को टैक्स असेसमेंट के मामले सौंपेगा।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *