अगर आप भी पीरियड्स टालने के लिए करती हैं दवाई का इस्तेमाल, तो जरुर पढ़ ले ये खबर वरना…

जवानी में आने पर लड़कियों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। किशोरावस्था में पंहुचने पर हर लड़की को मासिक धर्म यानी पीरियड्स होता है, जो लगभग 45-50 वर्ष की उम्र तक बना रहता है। गलत समय पर आ जाने वाले पीरियड्स की डेट को आगे-पीछे करने के लिए लड़कियां दवाइयों का सेवन बिना सोचे-समझें करती हैं। इससे आपको कई दुष्प्रभाव होते हैं।
होते है ये साइड इफेक्ट्स:
महिलाओं का मासिक चक्र 28 दिनों का होता है। अगर आपके पीरियड्स का कोई फिक्स टाइम नहीं है या यह कभी भी आ जाता है, तो आप तुरंत डॉक्टर्स से परामर्श कर इस समस्या का समाधान करें।
कई बार ऐसी दवाइयों के सेवन से हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं, जिसके कारण पीरियड्स 2 महीने या इससे भी ज्यादा समय के बाद आते हैं।

Loading...

Valentine Day: 14 को ही क्यों मनाया जाता है ‘वैलेंटाइन डे’? जाने इसके पीछे का इतिहास

जब 28-30 दिन का चक्र बिगड़ता है तो ओव्‍यूलेशन में गड़बड़ हो जाती है, जो महिलाओं की प्रजनन प्रणाली पर इफेक्ट डालती है।
पीरियड्स बंद करने वाली दवाइयों का सेवन करने से बाद में महिलाओं को हेवी ब्लीडिंग होने लगती है और दर्द असहनीय रूप ले लेता है।
अगर आपकी उम्र 30 साल से ज्यादा है और आपको डायबिटीज या मोटापे की शिकायत है, तो आपको इन दवाइयों के सेवन से बचना चाहिए, क्योंकि इनसे आपको रिएक्शन हो सकता है।
इन दवाइयों का सेवन करने से शरीर में हार्मोन्स तेजी से बदलते हैं, जिससे चेहरे पर अनचाहे बालों की वृद्धि होने लगती है।
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *