पीएम मोदी तोड़ा अटल बिहारी वाजपेयी जी का रिकॉर्ड, आजादी के बाद…

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 15 अगस्त 2020 को लगातार सातवीं बार लाल किले की प्राचीर से झंडा फहराने जा रहे हैं। इसी के साथ वह सबसे लंबे समय तक प्रधानमंत्री रहने वाले गैर-कांग्रेसी नेता बन गए है। इससे पहले, गैर कांग्रेसी नेताओं में अटल बिहारी वाजपेयी ने 6 बार साल 1998 से लेकर 2003 तक लाल किले पर झंडा फहरा कर इतिहास बनाया था। पीएम मोदी ने वाजपेयी के बतौर गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री के तौर पर उनके सबसे लंबे कार्यकाल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। 

Loading...

2014 में हुए लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी। उन्होंने 26 मई 2014 को पीएम पद की शपथ ली। इसके बाद में फिर से 2019 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने और भी बड़ी जीत हासिल की और नरेंद्र मोदी दोबारा पीएम बने। अब वह भारतीय इतिहास में चौथे सबसे लंबे समय तक सेवा देने वाले प्रधानमंत्री बन चुके हैं।

आजादी के बाद यानी साल 1947 से लेकर 2019 तक देश के 15 प्रधानमंत्री बने। देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के नाम देश के सबसे लंबे समय तक राज करने का रिकॉर्ड है। वह निधन से पहले यानी 6,130 दिनों तक देश के प्रधानमंत्री बने रहे।

नेहरू के नाम 6,130 दिनों तक पीएम का रिकॉर्ड

जवाहर लाल नेहरू ने आजादी के बाद 5 अगस्त 1947 को देश का प्रधानमंत्री पद संभाला था। उसके बाद वह 27 मई 1964 तक यानी 16 साल 286 दिनों तक प्रधानमंत्री पद पर बने रहे।

दूसरे लंबे समय तक पीएम रहीं इंदिरा

इसके बाद सबसे अधिक समय तक देश प्रधानमंत्री पद पर बने रहने का रिकॉर्ड है जवाहर लाल नेहरू की बेटी इंदिरा गांधी के नाम। देश की पहली महिला के तौर पर इंदिरा के नाम 5,829 दिनों तक प्रधानमंत्री होने का रिकॉर्ड है। वह 24 जनवरी 1966 से 24 मार्च 1977 तक यानी 11 साल 59 दिन तक लगातार पीएम बनी रहीं। उसके बाद दूसरी बार 14 जनवरी 1980 से 31 अक्टूबर 1984 तक पीएम का पद संभाला। यानी, वह हत्या से पहले तक 4 साल 291 दिनों तक फिर पीएम पद पर बनी रहीं।

तीसरा संबसे लंबे समय का कार्यकाल मनमोहन सिंह

डॉक्टर मनमोहन सिंह ने यूपीए-1 और यूपीए-2 के दौरान साल 2004 से 2014 तक यानी 10 साल प्रधानमंत्री बने रहे। मनमोहन सिंह के नाम 3,656 दिनों तक प्रधानमंत्री बने रहने का रिकॉर्ड है। पहले सिख पीएम मनमोहन सिंह ने 22 मई 2004 को पीएम पद की शपथ ली और 26 मई 2014 तक यानी वह दस साल और 2 दिन तक प्रधानमंत्री बने रहे।

पांचवें लंबे समय तक अटल वाजपेयी का कार्यकाल

चौथे सबसे लंबे समय तक बतौर देश के पीएम अटल बिहार वाजपेयी के नाम रिकॉर्ड है। वह 2,272 दिनों तक प्रधानंत्री पद पर आसीन रहें। अटल ने पहली बार सिर्फ 16 दिन के लिए पीएम बने। उन्होंने पहली बार 16 मई 1996 को शपथ लीं और 1 जून 1996 को एक वोट से सरकार गिरने के चलते इस्तीफा देना पड़ा। फिर वाजपेयी 19 मार्च 1998 से 22 मई 2004 तक यानी छह साल 54 दिनों तक प्रधानमंत्री का पद संभाला।

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *