पाक सरकार नवाज शरीफ का नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्‍ट से हटा सकती

पाकिस्‍तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को डॉक्‍टरों ने इलाज के लिए विदेश जाने की सलाह देकर कहीं न कहीं उन्‍हें जीवनदान देने का काम किया है। नवाज ने भी इस सलाह को मानते हुए लंदन जाकर इलाज करवाने का फैसला लेने में ज्‍यादा देर नहीं लगाई। उनकी बीमारी और खराब हालत को लेकर बीते दिनों में कई सारी बातें मीडिया में सुनाई दी थीं। इनमें उन्‍हें जहर देने तक की बात कही गई थी। उनकी बेटी ने कई बार इस बात को भी सार्वजनिक तौर पर कहा कि उन्‍हें जान से मारने की साजिश रची जा रही है।

Loading...

कुछ दिन पहले ही उनकी प्‍लेटलेट्स खतरनाक स्‍तर तक गिरने की बात भी सामने आई थी। डाक्‍टरों की सलाह पर माना जा रहा है कि पाकिस्‍तान की सरकार उनका नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्‍ट (Exit Control List /ECL) से हटा सकती है। ऐसा होने पर नवाज इसी सप्‍ताह लंदन जा सकते हैं। इस सूची में उन्‍हीं लोगों का नाम शामिल किया जाता है जिन्‍हें सरकार विदेश जाने से रोक देती है। यदि सरकार इस सूची से नवाज का नाम हटा लेती है सरकार की मंशा पूरी तरह से साफ हो जाएगी।

गौरतलब है कि इससे पहले लंदन जाकर इलाज कराने की अपील को नवाज और उनका परिवार ठुकरा चुका था, लेकिन अब वह इस पर राजी हैं। हालां‍कि उनकी बेटी मरियम फिलहाल पाकिस्‍तान में ही रहेंगी। आपको यहां पर ये भी बता दें नवाज की प्‍‍‍‍लेटलेट्स काउंट 24 हजार आई हैं। वहीं उनका इलाज कर रहे डाक्‍टरों का कहना है कि 50 हजार से कम प्‍लेटलेट्स काउंट वाला व्‍यक्ति विदेश जाने के लिए फिट नहीं होता है। गौरतलब है कि नवाज को उनके जटी उमरा स्थित घर में बनाए गए आईसीयू में शिफ्ट किया गया है। इसके लिए  पंजाब सरकार ने खास इजाजत दी है। डॉक्‍टरों ने उनकी हालत काफी खराब बताई है। सरकार के साथ गठजोड़ करने वाली पीएमएल-क्‍यू ने भी इमरान से नवाज को विदेश में इलाज कराने की अनुमति देने की अपील की है।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *