पाक राष्ट्रपति ने भारत पर लगाया आरोप

mamnoon_hussain_talks_02_06_2016इस्लामाबाद। पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने भारत के ऊपर बातचीत से भागने का आरोप लगाया है। बुधवार को संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए ममनून ने कहा कि पठानकोट आतंकी हमले में पाकिस्तान की तरफ से संयुक्त जांच के प्रस्ताव के बावजूद भारत बातचीत से भाग रहा है।

अपने संबोधन में पाकिस्तानी राष्ट्रपति ने एक बार फिर से कश्मीर मुद्दे को उठाते हुए इसे ‘विभाजन का अधूरा’ एजेंडा करार देते हुए क्षेत्रीय अशांति का बड़ा कारण बताया।

वर्तमान संसद के चौथे साल के शुरुआत में सत्र को संबोधित करते हुए ममनून हुसैन ने कहा- ‘पाकिस्तान के इस प्रयास के बावजूद कि भारत के साथ बातचीत हो पाए, साथ ही पठानकोट हमले में पाकिस्तान के संयुक्त जांच के प्रस्ताव के बावजूद दोनों देशों के बीच होनेवाली विदेश सचिव स्तरीय वार्ता को निलंबित कर दिया गया। पाकिस्तान इस बात से चिंतित है।’

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक शांतिप्रिय देश है जो अपनी विदेश नीति सभी देशों के साथ भाईचारे की और दोस्ताना संबंध चाहता है।

ममनून हुसैन ने कहा- ‘हम ये मानते है कि अशांति का मुख्य कारण कश्मीर का मुद्दा है। ये इस उप-महाद्वीप के विभाजन का एक अधूरा एजेंडा है। जब तक कश्मीर मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र प्रस्तावना और कश्मीरी जनता की अपेक्षाओं के मुताबिक नहीं सुलझाया जाता है इस क्षेत्र की समस्या खत्म नहीं हो सकती है।’

पाकिस्तानी राष्ट्रपति ने कहा कि किसी भी देश के साथ वो आक्रामक नहीं होना चाहते हैं और ईमानदारी के साथ राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मामले में शामिल होना चाहते हैं।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button